Wednesday , November 22 2017
Home / Featured News / यूपी : सामने आई पुलिस की करतूत, नेत्रहीन को आंतकी बताकर भेजा जेल

यूपी : सामने आई पुलिस की करतूत, नेत्रहीन को आंतकी बताकर भेजा जेल

HAKEEM

उत्तर प्रदेश पुलिस की काली कारगुजारी एक बार फिर से साबित हुई है। पुलिस ने एक नेत्रहीन को आंतकी बताकर जेल भेज दिया है। पुलिस के अनुसार नेत्रहीन मदरसा शिक्षक ने पुलिस कंट्रोल रूम कॉल करके हिन्दू संगठनों पर पाबंदी न लगाने पर जिले में कई जगह धमाके करने की धमकी दी थी। उसने खुद को आतंकी संगठन का सदस्य बताया। जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

आरोपी मुरादाबाद जनपद के ठाकुरद्वारा के सुरजननगर का रहने वाला है। उसका नाम वकील अहमद है, वह सुरजननगर के ही मदरसा इस्लामिया अरबिया बाबूल उलूम में पढ़ाता है और पास ही स्थित मस्जिद मदनी में इमाम है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूछताछ के दौरान वकील अहमद ने कहा कि भारत की बर्बादी तक जंग जारी रहेगी, अभी तो शुरूआत हुई है। सुरक्षा एजेंसियों ने भी उससे पूछताछ की। हिन्दुस्तान अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक उसके स्लीपर सेल होने की पुष्टि हुई है। पुलिस ने वकील अहमद को कोर्ट में पेश किया। वहां से 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

वकील अहमद का ठाकुरद्वारा के सुरजननगर में जसपुर रोड पर नहर किनारे छप्पर का घर है। उसके पिता मजदूरी करने हैं। मां शहजादी ने बताया कि उसके चार बच्चों में तीन दृष्टिहीन थे। जिनमें से एक दृष्टिहीन बेटी की मौत हो चुकी है। जबकि वकील का छोटा भाई जावेद भी जन्म से दृष्टिहीन है। सिर्फ छोटी बहन बुशरा सही सलामत है।

वकील अहमद की मां शहजादी का कहना है कि नाबीना (नेत्रहीन) होने के साथ ही उसकी दिमागी हालत भी ठीक नहीं रहती। कभी सही बातें करता है तो कभी एकदम गुस्से में आकर होश-ओ-हवास खो देता है। घर में खाने को कुछ नहीं है, गरीबी से हम बेहद परेशान है। परिजनों ने यह भी बताया कि वकील अहमद कभी-कभी कमरे का दरवाजा बंद कर दीवार में अपना सिर मारने लगता है।

NEWSPOINT

TOPPOPULARRECENT