Friday , December 15 2017

यू पी ए हुकूमत अक्लीयत में आ चुकी

पटना, १६ नवंबर (पीटीआई) बी जे पी पारलीमानी बोर्ड, रीटेल शोबा में ग़ैरमुल्की रास्त सरमाया कारी (एफ डी आई) की मुख़ालिफ़त के ताल्लुक़ से पार्लीमेंट के सरमाई सेशन में इख़तियार की जाने वाली हिक्मत-ए-अमली को 20 नवंबर को मुनाक़िद होने वाले इजलास म

पटना, १६ नवंबर (पीटीआई) बी जे पी पारलीमानी बोर्ड, रीटेल शोबा में ग़ैरमुल्की रास्त सरमाया कारी (एफ डी आई) की मुख़ालिफ़त के ताल्लुक़ से पार्लीमेंट के सरमाई सेशन में इख़तियार की जाने वाली हिक्मत-ए-अमली को 20 नवंबर को मुनाक़िद होने वाले इजलास में क़तईयत देगा।

पार्टी के सीनीयर लीडर एम वैंकया नायडू ने ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि बी जे पी पारलीमानी बोर्ड का इजलास एल के अडवानी की ज़ेर-ए-सदारत 20 नवंबर को नई दिल्ली में मुनाक़िद होगा। इस इजलास में रीटेल शोबा में एफडी आई की मुख़ालिफ़त और पार्लीमेंट के सरमाई सेशन में इख़तियार की जाने वाली हिक्मत-ए-अमली को क़तईयत दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि एन डी ए की हलीफ़ जमातों के इलावा दीगर सयासी पार्टीयों से भी जो रीटेल शोबा में एफडी आई की मुख़ालिफ़त कर रही हैं, मुशावरत की जाएगी ताकि यू पी ए हुकूमत पर इस फ़ैसले से दस्तबरदारी के लिए मूसिर ( शक्तिशाली) दबाव डाला जा सके।

बाएं बाज़ू जमातों (Left Parties) की जानिब से इस मसला पर पार्लीमेंट में क़ायदा 184 के तहत मुबाहिस के लिए नोटिस दिए जाने पर उन्होंने कहा कि बी जे पी उस की ताईद करती है लेकिन मौज़ूं वक़्त पर फ़ैसला किया जाएगा। क़ायदा 184 के तहत मुबाहिस की सूरत में राय दही ( मतदान) लाज़िमी क़रार पाती है।

वैंकया नायडू ने कहा कि बी जे पी इस मसला पर पार्लीमेंट में तमाम सयासी जमातों को साथ लेकर काम करने की ख़ाहां है। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस के मासिवा ( सिवा) दीगर बड़ी सयासी जमातें रीटेल शोबा में एफडी आई की मुख़ालिफ़ हैं क्योंकि इस से तक़रीबन 5 करोड़ ताजरीन ( व्यापारी) बेरोज़गार होने का अंदेशा है। उन्होंने कहा कि यू पी ए अक़्लीयती हुकूमत है और इसे इस तरह के अहम फ़ैसलों का कोई हक़ नहीं जिन से मुल्क और इस के अवाम पर शदीद असरात मुरत्तिब होते हैं।

उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस की ताईद से दस्तबरदारी के बाद यू पी ए हुकूमत अक़्लीयत में आ चुकी है और उसे पार्लीमेंट में अददी ( गिनी हुयी) ताक़त की आज़माईश से गुज़रना होगा।

TOPPOPULARRECENT