Saturday , February 24 2018

यू पी ए हुकूमत को अक्सरियत हासिल नहीं – एम पी अरूण कुमार

राजमुन्डरी के रुक्न पार्लीयामेंट अरूण कुमार ने आंध्र प्रदेश को मुत्तहिद रखने सीमा आंध्र में जारी एहतेजाज को शदीद क़रार दिया और कहा कि उन्हों ने अपनी ज़िंदगी में इतना शदीद एहतेजाज किसी और मौक़ा पर नहीं देखा है।

राजमुन्डरी के रुक्न पार्लीयामेंट अरूण कुमार ने आंध्र प्रदेश को मुत्तहिद रखने सीमा आंध्र में जारी एहतेजाज को शदीद क़रार दिया और कहा कि उन्हों ने अपनी ज़िंदगी में इतना शदीद एहतेजाज किसी और मौक़ा पर नहीं देखा है।

ए पी जर्नलिस्ट्स फ़ोरम के ज़ेरे एहतेमाम सहाफ़त से मुलाक़ात प्रोग्राम में हिस्सा लेते हुए अरूण कुमार ने कहा कि सरकारी मुलाज़मीन समेख्या आंध्र तहरीक की शिद्दत को उजागर करने में कामयाब रहे हैं। उन्हों ने इस तहरीक को पुरअमन रखने पर मुलाज़मीन से इज़हारे तशक्कुर भी किया।

उन्हों ने कहा कि ये फ़ख़्र की बात है कि मुलाज़मीन ने समेख्या आंध्र तहरीक चलाई है और कोई सयासी क़ियादत मुलव्विस नहीं रही और ना कोई नाख़ुशगवार वाक़िया पेश आया है। उन्हों ने ए पी एन जी ओज़ की जानिब से एहतेजाज से दस्तबरदारी को भी दरुस्त फैसला क़रार दिया है।

उन्हों ने कहा कि तेलंगाना तनाज़ा दर असल रियासत के दारुल हुकूमत से मुताल्लिक़ है इसी लिए तेलंगाना तहरीक संगीन हो गई थी। उन्हों ने कहा कि हैदराबाद दोनों ही इलाक़ों से ताल्लुक़ रखता है और सरकारी मलाज़िमीन इस एहतेजाज और मसअले की शिद्दत को वाज़ेह करने में कामयाब रहे हैं।

उन्हों ने इस यक़ीन का इज़हार किया कि तेलंगाना बिल को पार्लीयामेंट के सरमाई इजलास में पेश नहीं किया जाएगा। उन्हों ने इस ख़्याल का इज़हार किया कि यू पी ए के लिए हलीफ़ जमातों की तादाद में मुसलसल कमी वाक़े होती जा रही है।

उन्हों ने कहा कि स्पीकर लोक सभा ने उन के इस्तीफ़े क़ुबूल नहीं किए हैं और अब एम पीज़ ख़ुद कुछ नहीं कर सकते। ये वाज़ेह करते हुए कि तक़सीम रियासत को रोकने के लिए वो जो कुछ कर सकते हैं वो करेंगे।

उन्हों ने ताहम कहा कि अगर रियासत की तक़सीम हो जाती है तो इलाक़ा तेलंगाना का मज़ीद नुक़्सान होगा। उन्हों ने कहा कि 12 साल क़ब्ल तेलंगाना तहरीक का कोई वजूद नहीं था और ये ख़ुद टी आर एस सरब्राह के चन्द्र शेखर राव ने क़ुबूल भी किया है।

TOPPOPULARRECENT