Friday , April 20 2018

यू पी में दो हज़ार डॉक्टरस‌ कम हैं: सरकार‌

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में सरकार ने आज स्वीकार किया कि राज्य में डॉक्टरों की कमी पूरी किए जाने की कोशिशों के बावजूद अब भी लगभग‌ दो हज़ार डॉक्टरों की कमी है।

समाजवादी पार्टी (एस पी के नितिन अग्रवाल के सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि राज्य‌ में भारतीय जनता पार्टी (बी जे पी सरकार‌ बनने पर तक़रीबन‌ 7500 डॉक्टरों की कमी थी 5500 डॉक्टरों की कमी पुरी हो गई है इस कमी को पूरा करने के लिए आयूर्वेद डॉक्टरों को भी इस्तेमाल किया जा रहा है इस के बावजूद दो हज़ार डॉक्टरों की कमी है ये कमी जल्द ही पुरी हो जाएगी.उन्होंने बताया कि 1816 डॉक्टरों का इंटरव्यू कर लिया गया है। इन डॉक्टरों की नियुक्त जल्द ही किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि दस। दस महिला डॉक्टरों को बस्ती और गोरखपूर डिवीज़न में भी भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन बोली के ज़रीये भी डक्टरों की नियुक्ती की जा रही है।

विधानसभा सदस्य मनी त्रिपाठी का कहना था कि उनके ज़िला महराजगंज में साठ फ़ीसद डक्टरों के ओहदे ख़ाली हैं जबकि उनके इलाक़े में दिमाग़ी बुख़ार जैसी संगीन बिमारी चल रही है। समाजवादी पार्टी के ही संजय गर्ग ने डॉक्टरों के खिलाफ बढ़ती हिंसा पर चिंता जताई और सरकार को इसे रोकने के लिए उठाए गए कदमों को जानना चाहा हैं।

TOPPOPULARRECENT