Sunday , December 17 2017

यू पी हुकूमत की बरतरफ़ी और सदर राज नाफ़िज़ करने मुस्लिम तंज़ीमों का मांग‌

मुस्लमानों की कई तंज़ीमों ने उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी हुकूमत को फ़ौरी बरतरफ़ करने का मांग‌ किया। रियासत में सदर राज का निफ़ाज़ ज़रूरी है।

मुस्लमानों की कई तंज़ीमों ने उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी हुकूमत को फ़ौरी बरतरफ़ करने का मांग‌ किया। रियासत में सदर राज का निफ़ाज़ ज़रूरी है।

मुस्लमानों ने कहा कि चीफ़ मिनिस्टर अखिलेश यादव मुज़फ़्फ़रनगर और अतराफ़-ओ-अकनाफ़ के इलाक़ों में फ़िर्कावाराना फ़सादाद पर क़ाबू पाने में नाकाम होगए हैं। यहां मुशतर्का प्रेस कान्फ़्रेंस से ख़िताब करते हुए जमीअत ओलमा-ए-हिंद के मर्कज़ी दफ़्तर पर मुख़्तलिफ़ मुस्लिम तंज़ीमों के क़ाइदीन ने कहा कि समाजवादी पार्टी हुकूमत फ़िर्कावाराना फ़सादाद से मुतास्सिरा इलाक़ों में बिगड़ती सूरत-ए-हाल को क़ाबू करने में नाकाम होगई है।

मुस्लिम तंज़ीमों ने अखिलेश यादव के इस दावा को रद‌ कर दिया कि ये फ़सादाद अपोज़ीशन की जानिब से रचाई गई साज़िशों का हिस्सा है। मुस्लमानों ने ज़ोर देकर कहा कि किसी भी सियासी मैदान में अपोज़ीशन पार्टीयां हुकूमत को ग़ैर मुस्तहकम करने के लिए फ़िर्कावाराना ताल मेल‌ को बिगाड़ने की कोशिश करते हैं।

ये पार्टीयां ला ऐंड आर्डर का मसला पैदा करती है लेकिन ये हुक्मराँ पार्टी की ज़िम्मेदारी है कि वो ला ऐंड आर्डर की सूरत-ए-हाल को मज़बूत बनाए और बरक़रार रखे। मुस्लिम क़ाइदीन ने कहा कि अखिलेश यादव हुकूमत ने फ़सादाद पर क़ाबू पाने के लिए कुछ नहीं किया। लिहाज़ा ये हुकूमत इक़तिदार पर रहने के अख़लाक़ी हक़ से महरूम होगए है। मुस्लिम क़ाइदीन ने इल्ज़ाम आइद किया कि समाजवादी पार्टी की हुकूमत तशकील पाने के बाद से यू पी के अंदर गुजिश्ता दो साल के दौरान 105 फ़िर्कावाराना फ़सादाद रूनुमा हुए हैं।

इस से वाज़िह होता है कि ये हुकूमत बुरी तरह नाकाम है। प्रेस कान्फ़्रेंस से मौलाना महमूद मदनी जनरल सेक्रेटरी जमीअत ओलमाए हिंद, डाक्टर कियु आर एस इलयास रुक्न ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड, मौलाना नुसरत अली जेनरल सेक्रेटरी जमात-ए-इस्लामी हिंद, डाक्टर ज़फ़र उल-इस्लाम ख़ान सदर ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस मुशावरत, डाक्टर तस्लीम रहमानी सदर मिली पोलीटिक्ल कौंसिल आफ़ इंडिया के बिशमोल मुख़्तलिफ़ क़ाइदीन ने ख़िताब किया।

गुजिश्ता हफ़्ता मुज़फ़्फ़रनगर में फ़िर्कावाराना तशद्दुद भड़क उठा जिस में अब तक 40 अफ़राद हलाक हुए हैं। इसी दौरान मुज़फ़्फ़रनगर और अतराफ़ के इलाक़ों में फ़िर्कावाराना फ़सादाद की सूरत-ए-हाल में बेहतरी को देखते हुए ज़िला नज्म‍ ओ‍ नस्क़ ने आज दोपहर मुज़फ़्फ़रनगर के गड़बड़ ज़दा तीन इलाक़ों में चार घंटों के लिए कर्फ़यू में नरमी दी।

डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट कुशाल राज शर्मा ने कहा कि कर्फ़यू में 12 बजे दिन से 4 घंटे के लिए नरमी दी गई। ज़िला नज्म‍ ओ‍ नस्क़ यहां की सूरत-ए-हाल पर नज़र रखे हुए हैं और अव्वाम को ज़रूरी कामों की पूरा करने के लिए कर्फ़यू में नरमी का फ़ैसला किया गया। कर्फ़यू में नरमी के दौरान सख़्त चौकसी इख़तियार की गई थी।

इस इलाके में पुलिस और नीम फ़ौजी दस्तों को हाई अलर्ट रहने की हिदायत दी गई है। कोतवाली सियोल लाइंस और नाई मंडी में कर्फ़यू नाफ़िज़ किया गया था। इन इलाक़ों में किसी को भी अमन दरहम ब्रहम करने की इजाज़त नहीं दी गई। चीफ़ मिनिस्टर यूपी अखिलेश यादव ने कल कहा था कि फ़िर्कावाराना फ़सादाद फैलाने वालों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी।

इसी दौरान उत्तरप्रदेश हुकूमत ने फ़सादाद में हलाक होने वाले न्यूज़ चैनल के सहाफ़ी राजेश वर्मा की अहलिया को 15 लाख रुपये की माली इमदाद की है।

TOPPOPULARRECENT