Wednesday , December 13 2017

येदि यूरप्पा की बहैसीयत चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक बहाली का इम्कान

बी जे पी की मर्कज़ी क़ियादत ऐसा मालूम होता है कि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक बी एस येदि यूरप्पा को उन की बग़ावत के पेशे नज़र उनके ओहदा पर बहाल करने के लिए तैयार है। येदि यूरप्पा की दिल्ली रवानगी के चंद घंटे बाद चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक सदा

बी जे पी की मर्कज़ी क़ियादत ऐसा मालूम होता है कि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक बी एस येदि यूरप्पा को उन की बग़ावत के पेशे नज़र उनके ओहदा पर बहाल करने के लिए तैयार है। येदि यूरप्पा की दिल्ली रवानगी के चंद घंटे बाद चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक सदानंद गौड़ा वुज़रा एस सुरेश कुमार , गोविंद करजोत और एस ए रवींद्र नाथ के हमराह ख़ुसूसी तय्यारा से दिल्ली रवाना हो गए।

रवानगी से क़ब्ल प्रेस कान्फ्रेंस से ख़िताब करते हुए उन्होंने कहा कि सदर पार्टी नीतिन गडकरी ने (उन्हें) तीक़न दिया है कि क़ियादत तबदील नहीं की जाएगी। दिल्ली में तबादला-ए-ख़्याल बी जे पी उम्मीदवार की अड़ोपी । चिकमगलूर लोक सभा ज़िमनी इंतेख़ाबात में शिकस्त की वजूहात पर मर्कूज़ होगा।

एक दिन क़ब्ल लोक सभा में पार्टी को अड्डोपी और चिकमगलूर के लोक सभा ज़िमनी इंतेख़ाबात में शर्मनाक शिकस्त हो चुकी है। येदि यूरप्पा आज रात अपने हामीयों के एक ग्रुप के साथ दिल्ली पहुंच गए। इन का दावा है कि उन के कोई मुतालिबात नहीं हैं, लेकिन इन का मक़सद बिलकुल वाज़िह है। वो सीनीयर पार्टी क़ाइदीन एल के अडवानी, नीतिन गडकरी और अरूण जेटली से मुलाक़ात करेंगे। इन्होंने बैंगलौर में दिल्ली रवानगी से क़ब्ल प्रेस कान्फ्रेंस से ख़िताब करते हुए कहा कि वो आइन्दा उन्हें सौंपी जाने वाली कोई भी ज़िम्मेदारी कुबूल करने के लिए तैय्यार हैं।

उन्हों ने कहा कि दिल्ली में उन्होंने पार्टी को कोई अल्टीमेटम या कोई क़तई आख़िरी मोहलत देने का फ़ैसला नहीं किया है और कोई भी फ़ैसला करने की ज़िम्मेदारी क़ियादत पर छोड़ दी है। उन्होंने कहा कि उन्होंने कोई भी ख़ाहिश ज़ाहिर नहीं की है। वो मुझे कुछ नहीं दे रहे हैं। नीतिन गडकरी भी आज शाम नई दिल्ली पहुंच गए हैं और येदि यूरप्पा से मुलाक़ात करने वाले हैं। बी जे पी के आला क़ाइदीन ऐसा मालूम होता है कि इस नतीजा पर पहुंच गए हैं कि येदि यूरप्पा को चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा पर बहाल किया जाना चाहीए, लेकिन चाहते हैं कि वो राज्य सभा के दो साला इंतेख़ाबात की तकमील तक इंतिज़ार करें जो 30 मार्च को हो जाएगी।

ताहम बी जे पी अड्डो पी और चिकमगलूर लोक सभा ज़िमनी इंतेख़ाबात में 45724 वोटों की ज़बरदस्त अक्सरीयत से नाकाम हो चुकी है क्योंकि येदि यूरप्पा ने राज्य सभा के लिए बाग़ी उम्मीदवार नामज़द किया था। जिसकी वजह से येदि यूरप्पा की चीफ़ मिनिस्ट्री पर वापसी का अमल ज़्यादा तेज़ रफ़्तार हो गया है। बी जे पी के दाख़िली ज़राए ने कहा कि पार्टी में नाराज़गी और करप्शन के इल्ज़ामात की वजह से इसकी शबीहा मुंतशिर हो जाना कलीदी वजूहात हैं, जिसकी वजह से अड़ोपी । चिकमगलूर नशिस्त हाथ से निकल गई है।

येदि यूरप्पा ने राज्य सभा के लिए बाग़ी उम्मीदवार नामज़द करने के इलावा ऐलान किया था कि वो और उनके हामी अरकान असेंबली कर्नाटक के जारीया बजट इजलास का बाईकॉट करेंगे। पार्टी ज़राए के बमूजब गडकरी जल्द ही कोर ग्रुप का एक इजलास तलब करेंगे ताकि इस मसला पर ग़ौर किया जा सके।

TOPPOPULARRECENT