Sunday , June 24 2018

यौन अपराध विडियो और साइबर क्राइम पर सुप्रीम कोर्ट ने फेसबुक और सर्च इंजनों से किया जवाब तलब

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने यौन अपराधों और साइबर अपराध से संबंधित वीडियो को शेयर करने पर प्रतिबंध की मांग वाली एक याचिका पर तीन इंटरनेट सर्च इंजन और सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक से जवाब मांगा है।

जस्टिस मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित की पीठ ने एनजीओ प्रज्वला की याचिका पर गूगल इंडिया, याहू इंडिया, माइक्रोसॉफ्ट कारपोरेशन (इंडिया) लिमिटेड और फेसबुक से 9 जनवरी तक जवाब मांगा है और पूछा है कि वह एक ऐसे सिस्टम का निर्धारण करें जहाँ पर ऐसे विडियो को रिपोर्ट कर ब्लाक कराया जा सकता है।

प्रतिक्रिया के लिए अदालत का नोटिस हैदराबाद के गैर सरकारी संगठन प्रज्वला द्वारा दो बलात्कार वीडियो के साथ दाखिल एक पत्र की सुनवाई के दौरान जारी किया गया है। एक पेन ड्राइव में जमा की गयी इन दो वीडियो में एक आदमी को एक औरत के साथ बलात्कार करते दिखाया गया है जबकि दूसरा आदमी फिल्म बना रहा है।

एनजीओ की वकील अपर्णा भट्ट ने कहा कि यौन अपराधों के वीडियो बना कर ऑनलाइन पोस्ट किया जा रहा है, उन्होंने साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए न्यायालय द्वारा निर्देश जारी करने की वकालत की।

याचिका पर जवाब मांगे जाने पर, अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल मनिंदर सिंह ने साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए सरकार और केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में पीठ को बताया।

सीबीआई साइबर अपराध के मामलों से निपटने के लिए नोडल एजेंसी है।

TOPPOPULARRECENT