यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार ने अकबर के सभी दावों का किया खंडन

यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार ने अकबर के सभी दावों का किया खंडन
Click for full image

नई दिल्ली: विदेश से लौटने के बाद एमजे अकबर ने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद करार दिया है. महिला पत्रकार के आरोपों पर उनका कहना है कि एशियन एज के छोटे से दफ़्तर में यह संभव ही नहीं था. अकबर ने कहा कि जो कुछ भी आरोप लगाया है उसके बाद भी  वह महिला पत्रकार उनके साथ काम करती रहीं. दूसरी ओर महिला पत्रकार ने अकबर के दावों का खंडन किया है. उनके मुताबिक यह हादसा सूर्यकिरण बिल्डिंग के उस दफ़्तर में हुआ जहां एमजे अकबर का विशाल केबिन था. उन्होंने ने कहा उस घटना के बाद कभी अकबर के साथ काम नहीं किया. महिला पत्रकार ने उन दिनों अकबर की सेक्रेटरी रही  के कुछ स्क्रीन शॉट भी शेयर किए हैं जिनमें वो बता रही हैं कि उन्हें उसके के साथ हुई घटना का पता था.

दूसरी ओर विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर के इस्तीफ़े की मांग को लेकर यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने आज प्रदर्शन किया. ये लोग एमजे अकबर के घर के बाहर जमा होकर अकबर के इस्तीफे की मांग की.  बाद में पुलिस ने जबरन इन लोगों को वहां से उठाया और घसीट कर गाड़ियों में भर कर हिरासत में ले लिया.

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के खिलाफ 9 महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. इस समय #METOO अभियान के तहत कई नामी-गिरामी के लोगों के नाम यौन उत्पीड़न के आरोप लग रहे हैं. एमजे अकबर के अलावा नाना पाटेकर, डायरेक्टर साजिद खान और अभिनेता आलोकनाथ का भी नाम शामिल है.

Top Stories