यौन उत्पीड़न पर चुप्पी तोड़ने वाली महिलाओं को टाईम्स मैग्जीन ने ‘पर्सन अॉफ द ईयर’ चुना

यौन उत्पीड़न पर चुप्पी तोड़ने वाली महिलाओं को टाईम्स मैग्जीन ने ‘पर्सन अॉफ द ईयर’ चुना

न्यूयार्क। टाइम पत्रिका ने बुधवार को अपने पर्सन ऑफ द ईयर का एलान किया. इसके तहत उन सभी महिलाओं के हौसले को सम्मानित किया गया है जिन्होंने अपने खिलाफ यौन हमले और दुर्व्यवहार के बारे दुनिया को खुल कर बताने की हिम्मत की।

इससे ऐसे कई मामले सामने आये जिन पर या तो पर्दा पड़ा था फिर जिन्हें अनदेखा किया जा रहा था।

टाइम का कहना है, “लग सकता है कि यह अहसास रातों रात पैदा हुआ. लेकिन मुद्दा सालों, दशकों और सदियों से सुलग रहा है। महिलाएं अपने ऐसे बॉस या सहकर्मियों के हाथों उत्पीड़न का शिकार हुई जिन्होंने न सिर्फ सीमारेखा को पार किया, बल्कि शायद वे यह जानना ही नहीं चाहते थे कि कोई सीमारेखा है भी।

पत्रिका के मुताबिक, “उन्हें दुष्परिणाम भुगतने, खारिज होने और नौकरी से निकाले जाने का डर था और नौकरी खोने के बारे में वह सोच नहीं सकती थीं।

Top Stories