Tuesday , December 12 2017

यौमे आज़ादी पर हिन्द-चीन सरहदी अमला का इजलास

हिन्दुस्तान और चीन के सरहदी अमले का एक ख़ुसूसी इजलास यौमे आज़ादी के मौक़े पर तारीख़ी मैत्री असथल ( मुक़ामे दोस्ती ) बिमला दर्राह ज़िला तावानग अरूणाचल प्रदेश पर मुनाक़िद किया गया ।चीनी फ़ौज अपने ख़ानदानों के साथ सरहद पार कर के हिन्दुस्ता

हिन्दुस्तान और चीन के सरहदी अमले का एक ख़ुसूसी इजलास यौमे आज़ादी के मौक़े पर तारीख़ी मैत्री असथल ( मुक़ामे दोस्ती ) बिमला दर्राह ज़िला तावानग अरूणाचल प्रदेश पर मुनाक़िद किया गया ।चीनी फ़ौज अपने ख़ानदानों के साथ सरहद पार कर के हिन्दुस्तानी सरज़मीन पर सरहदी अमले के ख़ुसूसी इजलास में शिरकत केलिए आया था ।

दोनों ममालिक के शहरीयों की कसीर तादाद भी यौमे आज़ादी तक़ारीब के मुशाहिदे केलिए मौजूद थी जबकि एक शानदार सक़ाफ़्ती प्रोग्राम मुनाक़िद किया गया था जो हिन्दुस्तान के मुतनव्वे तमद्दुन की अक्कासी करता था ।लिसानी रुकावट के बावजूद दोनों ममालिक के अवाम ने एक दूसरे के साथ दोस्ताना और ख़ैर सगाली के माहौल में एक दूसरे से बातचीत की और इस ख़ुसूसी मौक़े पर पूरी ख़ुशी के साथ तस्वीरकशी करवाई ।

दोनों ममालिक की अफ़्वाज मुक़ामी मसाइल की यकसूई और एक दूसरे के मुल्क पर एतेमाद की बहाल केलिए यौमे आज़ादी से इस्तिफ़ादा करती हैं ।

TOPPOPULARRECENT