Saturday , December 16 2017

रक़म देने से इनकार, नवासे ने किया नानी का क़त्ल

हैदराबाद 25 मई: वज़ीफे की रक़म को बुढ़ापे का सहारा तसव्वुर किया जाता है लेकिन वज़ीफे की रक़म एक ज़ईफ़ ख़ातून की हलाकत का सबब बन गई। जहां इस 85 साला ख़ातून पोचमा के नवासे ने इस ख़ातून का क़त्ल कर दिया। ये वाक़िया ज़िला रंगारेड्डी के इलाके कुंदकवर में पेश आया। पुलिस ज़राए के मुताबिक़ पोचमां कुंदकवर में अपनी बेटी के यहां रहती थी।

शौहर के फ़ौत के बाद वज़ीफ़ा इसी ख़ातून के नाम पर था और वो वज़ीफे की रक़म लेकर अपनी बेटी के यहां रहती थी। पिछ्ले रोज़ उस ज़ईफ़ ख़ातून के नवासे गणेश ने इस से रक़म का मुतालिबा किया ख़ातून ने इनकार कर दिया,ब्रहमी के आलम में गणेश ने लाठी से अपनी नानी पर हमला करते हुए उसे हलाक कर दिया। पुलिस मसरूफ़ तहक़ीक़ात है।

TOPPOPULARRECENT