Saturday , January 20 2018

वज़ीरे आला एसआइटी तशकील करें, सबूत हम देंगे : मरांडी

जमशेदपुर : झाविमो सदर बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि फोन टेपिंग मामले की जांच के लिए वजीरे आला रघुवर दास हाइकोर्ट के सिटिंग जज की सदारत में कमेटी तशकील करें, वह एसआइटी को सबूत देने के लिए तैयार हैं। बाबूलाल मरांडी सनीचर को जमशेदपुर में सहाफ़ियों से बात कर रहे थे़। बाबूलाल ने कहा कि फोन टेपिंग रियासत का बड़ा मुद्दा है। यह आम लोगों की आज़ादी के हनन का मुद्दा है। लीडर, रिपोर्टर, वकील, ठेकेदार, कारोबारी जैसे लोगों के फोन टेप कर लोगों की सेक्रेसी का हनन करने की कोशिश किया गया है।

बाबूलाल मरांडी ने कहा वजीरे आला को बताना चाहिए कि किस मक़सद से किसके हुक्म से तकरीबन तीन हजार लोगों का फोन टेप किया गया। मुझे जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक इसमें हुकूमत पार्टी के लोगों के भी फोन टेप किये गये हैं। मुल्क या रियासत को किसी क़िस्म का खतरा होने पर फोन टेप किया जाता है और उसके नियम हैं । दाखिला सेक्रेटरी को खत लिखकर पूरी अमल अपना कर फोन टेप किया जाता है।

दो माह में चीफ़ सेक्रेटरी की कियादत में उसकी तजवीज होती है । बाबूलाल ने कहा एक अखबार में जो दो नंबर छपे हैं, वजीरे आला बतायें कि वे किसके हैं। मैं सिर्फ अखबार में छपी खबर की बुनयाद पर यह बात नहीं बोल रहा, बल्कि खबर छपने के बाद इसकी तहकीकात की। पता चला कि तकरीबन तीन हजार लोगों का फोन टेप किया गया है। इस रियासत में मरकज़ी एजेंसी भी महफूज़ नहीं है।

कमेटी का नोटिफिकेशन जारी करें सीएम

बाबूलाल ने कहा वजीरे अलला कमेटी तशकील का नोटिफिकेशन जारी कर दें। उस कमेटी में जिसे रखना है रखें, हम इल्ज़ाम को साबित कर देंगे़। कई अफसरों को जेल जाना पड़ेगा। मैं हवा में कोई बात नहीं बोलता़। इससे पहले डॉ इंतेजार अली के मामले को उठाया था और उसकी सच्चाई सामने आयी।

TOPPOPULARRECENT