Saturday , December 16 2017

रद्द किये गये भारतीय नोट रखने वाले नेपाल चले?

नई दिल्ली: भारत में रद्द किये गये मुद्रा 1000 और 500 रुपये के नोट‌ जहां कल से ही भारतीयों के लिए परेशानी और जुर्माना का कारण बन सकते हैं वहीं अब इन नोटों से नेपाल के निवासियों को कुछ उम्मीदें रही हैं। नेपाल में वहां के निवासियों को यह अनुमति है कि वह 1000 और 500 रुपए के मूल्य वाली नोटों में 25 हजार रुपये तक की भारतीय मुद्रा रख सकते हैं। हालांकि ऐसे समय जबकि भारत में ही इन नोटों का चलन बंद कर दिया गया है और यहां अब यह नोट रखने वालों को सज़ा मिल सकती हैं वहीं नेपाली नागरिकों के लिए भारत सरकार की ओर से कुछ सुविधाएं प्रदान करने की घोषणा की जा सकती है।

कानूनी तौर पर नेपाली नागरिक जो मुद्रा रख सकते हैं अपने परिवर्तन के लिए कोई सुविधा प्रदान की जा सकती है। यह कहा जा रहा है कि अगर नेपाल के नागरिकों को 25 हजार रुपये तक की भारतीय मुद्रा को अब नई मुद्रा से बदलने की अनुमति नहीं दी गई है तो वहां पहले से मौजूद विरोधी भारत भावनाएँ भी भड़क सकते हैं।

कहा जा रहा है कि अगर नेपाली निवासियों को सुविधा नहीं दी गई तो वे विनिमय व्यापारियों और काले धन को वैध करने वालों दृष्टिकोण(नजरिया) हो सकते हैं और वे अपने कमीशन प्राप्त करते हुए उनकी मुद्रा बदल सकते हैं। जो नुकसान होगा उसकी बदौलत नेपाली जनता में विरोधी भारत भावना भड़क सकती हैं।

यह भी कहा जा रहा है कि अगर नेपाली नागरिकों को इस मुद्रा को बदलने की अनुमति नहीं दी गई तो वह अपनी बचत खो सकते हैं। भारत में नेपाल के राजदूत दीप कुमार उपाध्याय ने यह मुद्दा नोटबंदी की घोषणा के बाद से मंत्रालय वित्त और विदेश मंत्रालय दोनों का नजरिया क्या हुआ है। उन्हें उम्मीद है कि भारत सरकार की ओर से इस संबंध में 30 दिसंबर के बाद कोई घोषणा की जाएगी।

नेपाल के राष्ट्रीय बैंक नेपाल राष्ट्र बैंक की ओर से अब तक भी भारत में जारी 500 और 2000 रुपये के नए नोटों को स्वीकार नहीं किया जा रहा है। नेपाली राजदूत ने आशंका जताई है कि अगर जनता को सुविधा नहीं दी गई तो वे काले धन को वैध करने वालों का शिकार बन सकते हैं।

भारत के विदेश मंत्रालय ने 8 नवंबर के बाद मंत्रालय वित्त से अनुरोध किया था कि वह नेपाली नागरिकों को 25 हजार रुपये तक की रद्द गई भारतीय मुद्रा को नई मुद्रा परिवर्तित करने की अनुमति दे। इस अंदेशे भी दिखाए जा रहे हैं कि अगर नेपाली नागरिकों को यह अनुमति दी गई तो रद्द की गई भारतीय नोट रखने वाले कुछ भारतीय नागरिक भी नेपाल का रुख कर सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT