रब्बानी क़तल में हक़्क़ानी ग्रुप मुलव्वस नहीं: सिराज उद्दीन हक़्क़ानी

रब्बानी क़तल में हक़्क़ानी ग्रुप मुलव्वस नहीं: सिराज उद्दीन हक़्क़ानी

लंदन । 4 । अक्तूबर (पी टी आई) हक़्क़ानी ग्रुप जिसे पाकिस्तान की जासूसी एजैंसी आई ऐस आई का दायां हाथ तसव्वुर किया जाता है लेकिन इसी नैटवर्क के ऑपरेशनल चीफ़ सिराज उद्दीन हक़्क़ानी ने आज इस बात की तरदीद की कि ग्रुप के आई ऐस आई से ना कोई रावबत

लंदन । 4 । अक्तूबर (पी टी आई) हक़्क़ानी ग्रुप जिसे पाकिस्तान की जासूसी एजैंसी आई ऐस आई का दायां हाथ तसव्वुर किया जाता है लेकिन इसी नैटवर्क के ऑपरेशनल चीफ़ सिराज उद्दीन हक़्क़ानी ने आज इस बात की तरदीद की कि ग्रुप के आई ऐस आई से ना कोई रावबत हैं और ना ही बुरहान उद्दीन रब्बानी क़तल में ग्रुप का कोई हाथ है। एक तवील अर्सा के बाद अवामी सतह पर अपनी झलक दिखाते हुए बीबी सी को एक इंटरव्यू के दौरान सिराज उद्दीन हक़्क़ानी ने कहा कि बुरहान उद्दीन रब्बानी को हम ने क़तल नहीं किया और यही बात हमारे तर्जुमान ने कई बार दुहराई है । याद रहे कि अमरीकी अफ़्वाज हक़्क़ानी ग्रुप पर हमेशा ये इल्ज़ाम आइद करती आई है कि अफ़्ग़ानिस्तान में अमरीकी तंसीबात पर हमलों के लिए हक़्क़ानी ग्रुप ही ज़िम्मेदार है । साबिक़ अमरीकी फ़ौजी सरबराह ऐडमिर्ल माईक मोलीन ने हक़्क़ानी ग्रुप को आई ऐस आई के दाएं हाथ से ताबीर किया था जिस के ज़रीया अफ़्ग़ानिस्तान में सर्द जंग लड़ी जाती है लेकिन हक़्क़ानी नैटवर्क चीफ़ का कहना है कि हमलों के पश पुश्त इस्लामी इमारात का हाथ है। इस्लामी इमारात से दरअसल 1996 -में अफ़्ग़ानिस्तान में तालिबान की हुकूमत को मौसूम किया गया था । अमरीकी सिफ़ारत ख़ाना नाटो हेडक्वार्टर्स और दीगर तंसीबात पर हमले दरअसल इस्लामी इमारात की कारस्तानी थीं। सिराज उद्दीन हक़्क़ानी के मुताबिक़ मग़रिब हमारे साथ जो खेल खेल रही है अब इस का ख़ातमा क़रीब है ।यहां इस बात का ज़िक्र दिलचस्पी से ख़ाली ना होगा कि हक़्क़ानी नैटवर्क के बारे में मज़हकाख़ेज़ बातें भी फैलाई जा रही हैं जहां इस के मुतअद्दिद कार्टूनस अख़बारात में शाय हुए हैं। जहां ये बताया जा रहा है कि हक़्क़ानी नैटवर्क को हकूमत-ए-पाकिस्तान की सरपरस्ती हासिल नहीं बल्कि हकूमत-ए-पाकिस्तान को हक़्क़ानी नैटवर्क की सरपरस्ती हासिल है ।

Top Stories