रमज़ान का बेहद एहतिराम करें-शाही इमाम

रमज़ान का बेहद एहतिराम करें-शाही इमाम
नई दिल्ली 13 जुलाई : ( फैक्स) शाही इमाम मस्जिद फ़तह पूरी दिल्ली मुफ़्ती मुहम्मद मुकर्रम अहमद साहिब ने आज जुमा की नमाज़ से पहले ख़िताब में मुस्लमानों को ताकीद की कि रमज़ान का बेहद एहतिराम करें और रोज़ों-ओ-तरावीह की पाबंदी करें।

नई दिल्ली 13 जुलाई : ( फैक्स) शाही इमाम मस्जिद फ़तह पूरी दिल्ली मुफ़्ती मुहम्मद मुकर्रम अहमद साहिब ने आज जुमा की नमाज़ से पहले ख़िताब में मुस्लमानों को ताकीद की कि रमज़ान का बेहद एहतिराम करें और रोज़ों-ओ-तरावीह की पाबंदी करें।

उन्होंने कहा कि इस माह-ए-मुबारक का एहतिराम करना चाहीए और जो लोग किसी मजबूरी से रोज़े रखने से मजबूर‌ हूँ वो भी खुले आम खाने पीने से परहेज़ करें। उन्होंने कहा कि रोज़ा का मतलब है मुकम्मल कंट्रोल और सब्र अपने नफ़स को हर ग़ैर शरई बात से रोकना यानी हमारी जुबान कान आँख हाथ पैर आज़ा का रोज़ा होना चाहीए और ये कंट्रोल की आदत रमज़ान में पड़ी है पूरे साल रहना चाहिए।

शाही इमाम साहिब ने मज़ीद कहा कि पिछले जुमा को मस्जिद फ़तहपूरी के हौज़ में नजासत में लत पत् क़ुरआन-ए-करीम डालने से अंदाज़ा होता है कि शरपसंद लोग इस इलाक़ा में भी सरगर्म हैं। लिहाज़ा हुकूमत को चाहीए कि मज़हबी मुक़ामात की सैक्योरिटी में इज़ाफ़ा करे और शरपसंदों का जल्द पता लगाए।

शाही इमाम साहिब ने कहा कि बोध गया हमला किस ने किया इस का पता लगना चाहीए मुस्लमानों को बगै़र तहक़ीक़ के इल्ज़ाम ना दिया जाये। शाही इमाम साहिब ने हुकूमत से पुरजोर अपील की कि केदार नाथ सानिहा की वजह से इस साल कहीं भी इफ़तार पार्टी का एहतिमाम ना किया जाये।

और‌ कहा कि अमरीका अपने सिफ़ारत ख़ानों के ज़रीया दीगर ममालिक में इफ़तार पार्टी करता है और सदर ओबामा भी व्हाइट हाऊस में इफ़तार पार्टी करते है और दूसरी तरफ़ ईरान पर पाबंदीयां मज़ीद बढ़ाई जा रही हैं जबकि इस का कोई प्रोग्राम यू एन ओ की ख़िलाफ़वरज़ी नहीं।

झूटे इल्ज़ामात पर इसके साथ इस्लाम दुश्मनी में ये सब किया जा रहा है तो ये दो रुख़ी पालिसी दोस्ती और दुश्मनी का क्या मतलब है। हमारा मुतालिबा है कि ईरान पर से रमजान में जल्द से जल्द पाबंदीयां उठाई जाएं ।

Top Stories