Friday , December 15 2017

रवायत के ताल्लुक से अदारा शरिया झारखण्ड की मीटिंग

गुजिश्ता रोज़ अहाता मज़ार शरीफ हज़रत क़ुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा, डोरंडा रांची में 29 रमजान-उल-मुबारक के रवायत से ताल्लुक से हज़रत मौलाना सैयद शाह अल्कामा शिबली की सदारत में और नाजिम आला मौलाना क़ुतुबुद्दीन रिजवी की निजामत में मु

गुजिश्ता रोज़ अहाता मज़ार शरीफ हज़रत क़ुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा, डोरंडा रांची में 29 रमजान-उल-मुबारक के रवायत से ताल्लुक से हज़रत मौलाना सैयद शाह अल्कामा शिबली की सदारत में और नाजिम आला मौलाना क़ुतुबुद्दीन रिजवी की निजामत में मुफ्तियाये कराम, ओल्माये कराम और दानिश्वरों की एक मीटिंग हुइ।

जिस में रवायत के ताल्लुक से मुख्तलिफ पहलुओं पर तबादला ख्याल हुआ और बिला इत्तेफाक तमाम मुसलमानों से दरख्वास्त की गयी के वो चाँद के मामला में शरियत का ख्याल रखें, चुंके बहुत से अनासिर हैं जो चाँद के मामले में गैर शरई तौर पर मिल्लत को उलझा कर रखने और मिल्लत के इत्तेहाद को तोड़ने के कोशिश करते हैं। और चुंके इसका ताल्लुक खालिस इबादत से है इस में किसी तबियत या सियासत का दाखिल होना नहीं चाहिए। मीटिंग में तय पाया के चाँद के ताल्लुक से किसी अफवाह पर ध्यान न देखर इत्तेहाद यक्जाहती को बरक़रार रखें और शरयी मामला में बे वज़ह मुदाख्लत न करें बल्के शरयी मामला में शरियत पर मुश्तमिल शरयी बोर्ड के फैसले का इंतज़ार करें। आदरे शरिया झारखण्ड ने 29 रमजान के पेशे नज़र रियासत के तमाम अजला में जिलाई रवायत हलाल मरकजी की तशकील की है जिसे ओलमाए अहले सुन्नत ने मंजूरी दे दी है।

मीटिंग में अदारा शरिया झारखण्ड 29 रमजान उल मुबारक 1434 हिजरी बरोज़ जुमेरात मुताबिक 8 अगस्त 2013 को ईद-उल-फ़ित्र का चाँद देखने का भरपूर एहतेमाम करें। अगर कहीं चाँद नज़र आ जाये तो तमाम अजला में कायम जिलाई रवायत हलाल मरकज के इलावा अदारा शरिया झारखण्ड रांची को खबर करें ताके शरई ज़रूरत पड़ने पर शहादत शरिया हासिल की जा सके।

TOPPOPULARRECENT