Wednesday , November 22 2017
Home / India / रविश कुमार और बरखा दत्त का ट्वीटर अकाउंट हैक, हैकर मे निजी जानकारी शेयर की

रविश कुमार और बरखा दत्त का ट्वीटर अकाउंट हैक, हैकर मे निजी जानकारी शेयर की

नई दिल्ली। लीजियन नाम के हैकर ने शनिवार रात पहले बरखा दत्त का ट्विटर अकाउंट हैक किया और उसके बाद रवीश कुमार का हैक किया। इससे पहले यह ग्रुप कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और विजय माल्या का ट्विटर अकाउंट हैक करके सनसनी मचा चुका है। हैकर ने ट्विटर पर एक के बाद एक कई ट्वीट किए। ट्वीट में बरखा और रविश कुमार निजी जानकारी लीक की गईं जिसको बाद में डिलीट कर दिया गया।

हैकर ने ईमेल आईडी के पासवर्ड के साथ-साथ सारा डाटा भी एक लिंक के जरिए पब्लिक करने का दावा किया। हैकर ने साथ में यह भी बताया कि अगला ट्वीटर अकाउंट ललित मोदी का हैक होने वाला है।

मीडिया रिपोट्स के मुताबिक, इसके अलावा लीजियन हैकर्स ग्रुप ने कई ट्वीट के जरिए कहा गया है कि भले वो जेल चले जाएं, लेकिन इससे पहले वो लगभग कई टेराबाइट डेटा लीक कर के जाएंगे। गौरतलब है कि 1TB डेटा में ही बहुत अधिक जानकारियां आ सकती है फिर हैकर्स ग्रुप का दावा है कि उनके पास काफी अधिक संख्या में हैक किया हुआ डाटा उपलब्ध है। इसलिए यह कहना मुश्किल है कि ये हैकर्स आगे कितने अकाउंट्स हैक करेंगे।

रविश कुमार ने ब्लॉग लिखकर अपना ट्वीटर अकाउंट हैक हो जाने पर प्रतिक्रिया दी। उनके ब्लॉग का प्रमुख अंश।

“मेरी निजता भंग हुई है। मेरा भी ईमेल हैक हुआ है। बरखा दत्त की भी निजता भंग हुई है। मैं सिर्फ रवीश कुमार नहीं हूं। एक पत्रकार भी हूं। कोई हमारे ईमेल में दिलचस्पी क्यों ले रहा है। क्या हमें डराने के लिए? आप बिल्कुल ग़लत समझ रहे हैं। ये आपको याद दिलाया जा रहा है कि जब हम इन लोगों के साथ ऐसा कर सकते हैं तो आपके साथ क्या करेंगे याद रखना। पत्रकारों को जो भी ताकतें डराती हैं दरअसल वो जनता को डराती हैं। अगर हमारी निजता और स्वतंत्रता का सवाल आपके लिए महत्वपूर्ण नहीं है तो याद रखियेगा एक दिन आपकी भी बारी आने वाली है। जिस लोकतंत्र में डर बैठ जाए या डरने को व्यापक मंज़ूरी मिलने लगे वो एक दिन ढह जाएगा। आपका फर्ज़ बनता है कि इसके ख़िलाफ़ बोलिये। डरपोकों की बारात बन गई है जो किसी मुख्यालयों के पीछे के कमरे में बैठकर ये सब काम करते हैं। अभी तो पता नहीं है कि किसकी हरकत है। जब राहुल गांधी के बारे में ठोस रूप से पता नहीं चल सका तो हम लोगों को कौन पूछ रहा है। आख़िर वो कौन लोग हैं, उन्हें किसका समर्थन प्राप्त है जो लगातार हमारे ट्वीटर अकाउंट पर आकर गालियां बकते हैं। अफवाहें फैलाते हैं। आपको बिल्कुल पता करना चाहिए कि क्या यह काम कोई राजनीतिक पार्टी करती है। ऐसा काम करने वाले क्या किसी राजनीतिक दल के समर्थक हैं। पता कीजिए वर्ना आपका ही पता नहीं चलेगा।”

इससे पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के ट्विटर अकांउट हैक होने के बाद आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि देश की डिजिटल सुरक्षा से कोई समझौता नहीं होगा। ऐसे हैकर्स के खिलाफ जांच में आईटी सेल की पूरी मदद ली जायेगी। देश की डिजिटल सुरक्षा मजबूट हो इसपर हमारा जोर है। लेकिव रविशंकर प्रसाद के इन दावे के बाद रविशंकर के दावे और देश की साइबर सिक्योरिटी की धज्जियां उड़ती दिख रही है।

TOPPOPULARRECENT