Monday , December 18 2017

रसोई का बजट बिगड़ा, सब्जियों के दाम दोगुने

रियासत में हुई तेज आंधी और बारिश का असर सब्जियों के दाम पर दिखने लगा है। आलू समेत हरी सब्जियों के भाव दोगुने तक बढ़ गये हैं। 10 दिनों में बैंगन 24 रुपये से बढ़ कर 40 से 42 रुपये किलो हो गया है। इसी तरह टमाटर 30 रुपये से बढ़ कर 40 रुपये हो गया। क

रियासत में हुई तेज आंधी और बारिश का असर सब्जियों के दाम पर दिखने लगा है। आलू समेत हरी सब्जियों के भाव दोगुने तक बढ़ गये हैं। 10 दिनों में बैंगन 24 रुपये से बढ़ कर 40 से 42 रुपये किलो हो गया है। इसी तरह टमाटर 30 रुपये से बढ़ कर 40 रुपये हो गया। करैला 16 से बढ़ कर 22 से 30 रुपये हो गया है। परवल 16 से बढ़ कर 24-26 रुपये फी किलो हो गया है। धनिया पत्ती 10 दिन पहले जो 160 रुपये किलो बिक रही थी, वह अब 200 रुपये किलो मिल रही है।

क्यों हुआ महंगा

तेज आंधी-बारिश और फिर तेज धूप से पैदावार घट गयी है। बाकरपुर, सोनपुर के किसानों की मानें, फिर अगर तेज बारिश हो गयी, तो सब्जियां और महंगी हो जायेंगी। अंटा घाट के हॉल सेलर कारोबारी बालेश्वर राय और मीठापुर मंडी के हॉलसेलर कारोबारी संजय कुमार ने बताया कि अब आवक घट गयी है।

एसोचैम ने कहा

माली साल (2014-15) के पहले तीन महीनों में रसोई का बजट बढ़ा है। ऐसा अहम तौर से सब्जियों की कीमतों में इजाफे से हुआ है। एसोचैम के 33 बाजारों के स्टडी के मुताबिक औसतन रिटायलर होलसेल बिक्री कीमतों से 48.8 फीसद महंगी शरह पर सब्जियां बेच रहे हैं। एसोचैम के जेनरल सेक्रेटरी डीएस रावत ने कहा कि यह स्टडी भारत के मुखतलिफ़ बाजारों में सब्जियों के होलसेल बिक्री कीमत और खुदरा कीमतों पर मुबनी है।

TOPPOPULARRECENT