रहमान मलिक के बयान पर बी जे पी की हुकूमत पर तन्क़ीद

रहमान मलिक के बयान पर बी जे पी की हुकूमत पर तन्क़ीद
वज़ीरे दाख़िला पाकिस्तान रहमान मलिक के इस मुतनाज़ा बयान पर जिसमें उन्होंने बाबरी मस्जिद की शहादत का मुंबई दहश्त गरदाना हमलों से तक़ाबुल करने की कोशिश की है बी जे पी ने हुकूमत को निशाना बनाया है और मुतालिबा किया कि हुकूमत ये वाज़िह क

वज़ीरे दाख़िला पाकिस्तान रहमान मलिक के इस मुतनाज़ा बयान पर जिसमें उन्होंने बाबरी मस्जिद की शहादत का मुंबई दहश्त गरदाना हमलों से तक़ाबुल करने की कोशिश की है बी जे पी ने हुकूमत को निशाना बनाया है और मुतालिबा किया कि हुकूमत ये वाज़िह करे कि इसने रहमान मलिक के बयान पर शदीद रद्द-ए-अमल का इज़हार क्यों नहीं किया है ।

राज्य सभा में वक़फ़ा सिफ़र के दौरान ये मसला उठाते हुए बी जे पी के डिप्टी फ़्लोर लीडर रवी शंकर प्रसाद ने कहा कि हुकूमत ये वाज़िह करने में नाकाम रही है कि अलहाबाद हाइकोर्ट ने इस मसले पर फैसला सुना दिया है और जो लोग उसे मस्जिद क़रार दे रहे थे वो इसे साबित करने में नाकाम रहे हैं।

जनतादल के एक रुकन साबिर अली ने इस पर शदीद एतराज़ किया और उन्होंने एवान के वस्त में पहूंच कर बी जे पी रुकन पर तन्क़ीद की । मलिक ने अपने दौरे हिंद के मौके पर कहा था कि कोई भी नहीं चाहता कि मुंबई धमाके समझौता एक्सप्रेस धमाके और बाबरी मस्जिद जैसे मसाइल दौरे पेश आएं।

बादअज़ां उन्होंने कहा था कि उन्होंने बाबरी मस्जिद की शहादत का मुंबई हमलों से कोई तक़ाबुल नहीं किया था और उनके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया था । बी जे पी रुकन प्रसाद ने कहा कि रहमान मलिक ने जो कुछ कहा है वो गैर ज़रूरी और बला इश्तिआल है ।

हम उसकी शदीद मुज़म्मत करते हैं और वज़ीरे दाख़िला से सवाल करते हैं कि उनके इस बयान पर शदीद रद्द-ए-अमल क्यों ज़ाहिर नहीं किया गया । उन्हें दौरे हिंद की दावत ही नहीं दी जानी चाहीए थी ।

Top Stories