Wednesday , September 19 2018

रांची में ठंड बढ़ी, दर्जे हरारत आठ डिग्री सेल्सियस

पछुआ हवा चल रही है। इसका असर दारुल खुकुमत के आवाम की ज़िंदगी पर पड़ा है। गुजिशता तीन-चार दिनों से हल्का बादल था। बादल की वजह से कम अज़ कम दर्ज़ ए हरारत भी चढ.

पछुआ हवा चल रही है। इसका असर दारुल खुकुमत के आवाम की ज़िंदगी पर पड़ा है। गुजिशता तीन-चार दिनों से हल्का बादल था। बादल की वजह से कम अज़ कम दर्ज़ ए हरारत भी चढ. गया है। दर्जे हरारत 10 और 11 डिग्री के आसपास रिकार्ड किया जा रहा था। मंगल की रात से पछुआ बहने से आसमान साफ हो गया। इस वजह से दारुल हुकूमत का कम अज़ कम दर्जे हरारत 8 डिग्री सेसि पहुंच गया है। मौसम साइंस महकमा का कहना है कि आनेवाले तीन-चार दिनों तक हालत इसी तरह रहेगी। आसमान साफ रहेगा और कम अज़ कम दर्ज़े हरारत 10 डिग्री सेसि से नीचे रहेगी।

शिमला, कश्मीर में बर्फबारी

शिमला और कश्मीर में बर्फबारी हुई है। चंबा, डलहौजी वगैरह इलाकों में भी खूब बर्फबारी हुई है। उधर से चलनेवाली हवा मैदानी रियासतों से होते हुए झारखंड की तरफ आती है। इस वजह से हवा में ठंडक है। जुनूबी-मशरिकी की सिम्त से हवा चल रही है। बीएयू के डॉ ए बदूद ने बताया कि दिसंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर जनवरी के शुरुआती पखवाडे. में जबरदस्त ठंड पड़ेगी हवा की रफ्तार 10 किलोमीटर के आसपास है।

TOPPOPULARRECENT