Saturday , December 16 2017

रांची में दहशतगर्द बनाने वाला आईएम सरगना गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रांची में दहशतगर्द तैयार करने वाले इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के सरगना तहसीन अख्तर उर्फ मोनू को मगरीबी बंगाल और नेपाल की सरहद पर वाक़ेय काकरविट्टा से गिरफ्तार किया। अख्तर पटना धमाका का मास्टरमाइंड है।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रांची में दहशतगर्द तैयार करने वाले इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के सरगना तहसीन अख्तर उर्फ मोनू को मगरीबी बंगाल और नेपाल की सरहद पर वाक़ेय काकरविट्टा से गिरफ्तार किया। अख्तर पटना धमाका का मास्टरमाइंड है। इसी के इशारे पर नरेंद्र मोदी की हुंकार रैली में धमाके किए गए थे। वह बिहार में समस्तीपुर के मनियापुर का रहने वाला है।

तहसीन ने धुर्वा के सिठियो में दहशतगर्द तंजीम तैयार किया था। तंजीम के तौसिह, धमाके खेज आलात और पैसे की इंतेजाम वही करता था। इसका खुलासा रांची से गिरफ्तार एक दीगर दहशतगर्द उज्जैर ने पूछताछ में किया था। तहसीन को चार साल पहले आईएम के नायब सरपरस्त अहमद सिद्धि बप्पा जरार उर्फ यासीन भटकल ने ही तंजीम में शामिल किया था। तहसीन ने ही डोरंडा के उज्जैर, सिठियो के इम्तियाज अंसारी और उसके रिश्तेदार तौफिक अंसारी, नुमान अंसारी व हैदर अली को धमाके के लिए तरबियत दिया था। पटना जाने के लिए तहसीन और उज्जैर ने मिलकर पैसे की इंतेजाम की थी। झारखंड के एक सियासतदां ने इसमें मदद की थी।

पाक भागने की फिराक में था

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने बताया कि तहसीन पर पटना बोधगया और हैदराबाद धमाके का भी इल्ज़ाम है। वह पाकिस्तान भागने की फिराक में था। यासीन भटकल के बाद अख्तर को आईएम का चीफ बना दिया गया था। तहसीन दिल्ली में हथियारों की फैक्ट्री लगाने वाला था। एनआईए ने उस पर 10 लाख रुपए का इनाम का ऐलान किया था।

आईएम के करीब तमाम बड़े सरगना हो चुके हैं गिरफ्तार

पुलिस ने अब तक अहमद सिद्धीबप्पा जरार उर्फ यासीन भटकल, तहसीन अख्तर उर्फ मोनू, असदुल्ला अख्तर उर्फ हड्डी और जिया-उर-रहमान उर्फ वकास को गिरफ्तार किया है। भारत में हो रही दहशतगर्द सरगरमियों के पीछे इन्हीं का हाथ था। वकास को उसके तीन साथियों के साथ राजस्थान से गिरफ्तार किया था। वकास को नेपाल के रास्ते भारत लाने वाला तहसीन ही था।

अब हैदर, तौफिक, मुजीबुल व नुमान की बारी

एनआईए की मोस्ट वांटेड लिस्ट में फरार चल रहे डोरंडा का हैदर अली, तौफिक अंसारी, नुमान अंसारी और ओरमांझी का मुजीबुल है। हैदर अली पर भी दस लाख इनाम का ऐलान है।

TOPPOPULARRECENT