Sunday , December 17 2017

रांची में मलेरिया का कहर, अब तक 30 की मौत

गर्मी शुरू होते ही मच्छरों का कहर बढ़ रहा है। जिसके सबब मलेरिया के मरीजों की तादाद भी बढ़ बढ़ रही है। गर्मी में दोपहर में दर्जा हरारत बढ्ने और सुबह शाम थोड़ी ठंड रहने से वाइरल इन्फेक्शन होता है। ऐसे मौसम में लापरवाही जान लेवा साबित हो स

गर्मी शुरू होते ही मच्छरों का कहर बढ़ रहा है। जिसके सबब मलेरिया के मरीजों की तादाद भी बढ़ बढ़ रही है। गर्मी में दोपहर में दर्जा हरारत बढ्ने और सुबह शाम थोड़ी ठंड रहने से वाइरल इन्फेक्शन होता है। ऐसे मौसम में लापरवाही जान लेवा साबित हो सकती है। अदाद व शुमार के मुताबिक रिम्स के मेडीशन महकमा और चाइल्ड डिपार्टमेन्ट मिला कर 15 दिनों के अंदर मलेरिया व दीगर बुखार के 30 मरीजों की मौत इलाज़ के दौरान हो चुकी है। ये मलेरिया के कहर का ही नतीजा है।

अदाद व शुमार के मुताबिक मेडीशन वर्ड में 13 और बच्चा वर्ड में 6 की मौत हो चुकी है। रिम्स और सदर अस्पताल में 119 मरीजों को दाखिल कराया गया है। 15 दिनों के अंदर सदर अस्पताल और रिम्स के ओपीडी में 193 बुखार से मुतासीर लोग इलाज़ के लिए पहुँच चुके हैं। रिम्स के मेडीएशन महकमा में मलेरिया के 21 और बुखार के 43 मरीजों को इलाज़ के लिए दाखिल कराया गया है। जाबके बच्चा वर्ड में मलेरिया के 15 और बुखार के 18 बच्चे दाखील हुये हैं। मेडीएशन महकमा के डॉक्टर संजय कुमार सिंह ने कहा के इस मौसम में खुले बदन न रहें और मच्छर दानी का इस्तेमाल करें।

TOPPOPULARRECENT