Thursday , December 14 2017

राजनाथ सिंह का ममता हुकूमत पर वार, मालदा फसाद पर खड़े किए सवाल :

2Q==(1)

​होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने आज कानून इंतेजामिया की हालात को लेकर तृणमूल कांग्रेस हुकूमत पर हमला बोलते हुए दावा किया कि सूबे में महिलाएं, आम लोग और यहां तक कि पुलिस वाले भी महफूज नहीं हैं। उन्होंने मालदा में पिछले दिनों हुई हिंसा को लेकर सूबे की हुकूमत के रूख पर भी सवाल खड़ा किया।

उन्होंने इस महीने की शुरूआत में सूबे में हुए ग्लोबल बिजनेस सम्मेलन को लेकर भी ममता बनर्जी सरकार को आड़े हाथ लिया और कहा कि ऐसे प्रोग्राम के कराने से सूबे में इनवेस्टमेंट लाने में तब तक मदद नहीं मिलेगी, जब तक हुकूमत कानूनी इंतजाम को दुरुस्त नहीं करती।

मगरिबी बंगाल में इस साल इलेक्शन होने हैं। इस सिलसिले में यहां बीजेपी की एक रैली को संबोधित करते राजनाथ सिंह ने कहा, तृणमूल कांग्रेस के बदलाव के नारे के बावजूद मगरिबी बंगाल में मां, माटी और मानुष और यहां तक कि पुलिस भी महफूज़ नहीं है। तृणमूल कांग्रेस बंगाल में कोई बदलाव नहीं ला सकी है।

मालदा का जिक्र करते हुए उन्होंने ममता बनर्जी के इस बयान को खारिज कर दिया कि यह बीएसएफ और यहां के लोकल लोगों के बीच लड़ाई का नतीजा है। उन्होंने कहा, मालदा में जो हुआ वह छोटी घटना नहीं है। मैं तृणमूल कांग्रेस हुकूमत से कहना चाहता हूं कि मालदा के मामले को सुलझाया जाना चाहिए। हादसे के पीछे जो कोई शामिल हो, उसे गिरफ्तार किया जाना चाहिए। सिर्फ कुछ लोगों को गिरफ्तार करने से मामला नहीं सुलझ सकता।

राजनाथ सिंह के बयान पर जवाब देते हुए तृणमूल कांग्रेस के नेशनल स्पोक परसन डेरेक ओब्रायन ने कहा, जनाब राजनाथ सिंह जी , मालदा आपकी देन है। देश के होम मिनिस्टर के तौर पर आपको फिरकापरस्त तनाव भड़काने का मिशन नहीं चलाना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT