Wednesday , January 24 2018

राजनीतिक दलों के लिए कर छूट के खिलाफ याचिका पर 11 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा कि वह अगले महीने स्वैच्छिक योगदान प्राप्त करने पर राजनीतिक दलों को कर छूट देने वाले आयकर (आईटी) अधिनियम के एक प्रावधान को खारिज करने की मांग वाली याचिका की सुनवाई करेगी।

न्यायमूर्ति अशोक भूषण और एल नागेश्वर राव की पीठ ने कहा कि याचिका पर सुनवाई करने के लिए कोई जल्दी नहीं है क्योंकि यह कानून 50 साल से अधिक समय से लागू है और कहा है कि वह 11 जनवरी को इसके ऊपर सुनवाई करेगी।

“आपने आयकर प्रावधान के जिस प्रावधान को जो चुनौती दी है वह 1960 के दशक से लागू है। इसमें जल्दी की क्या आवश्यकता है? यह अदालत छुट्टियों के बाद इस पर सुनवाई करेगी। यह अधिनियम 50 वर्षों से अधिक से चला आ रहा है,” बेंच ने याचिकाकर्ता अधिवक्ता एमएल शर्मा से कहा।

शर्मा ने अदालत से आज ही इस मामले की सुनवाई करने के लिए आग्रह किया और दावा किया कि 16 दिसंबर को सरकार ने घोषणा की थी कि राजनीतिक दलों के खातों में जमा किये गए प्रतिबंधित नोट पर आईटी अधिनियम की धारा 13A के तहत दिए गए कर में छूट के तहत कोई जांच नहीं की जायेगी।

उन्होंने कहा कि पुराने नोट राजनीतिक दलों के खातों में जमा किया जा रहा है और समस्या यह है कि यह पैसे निकाल लिए जायेंगे।

पीठ ने कहा, “अगले एक सप्ताह में क्या होने जा रहा है? मामला पर 11 जनवरी को सुनवाई की जायेगी”।

TOPPOPULARRECENT