राजनेताओं की संतानों को भी चुनाव लड़ने का पूरा हक है- विजयवर्गीय

राजनेताओं की संतानों को भी चुनाव लड़ने का पूरा हक है- विजयवर्गीय
Click for full image

देश में इस समय चुनावी माहौल बना हुआ है और सभी पार्टियां अपने अपने प्रत्याशियों का समर्थन करने में लगे हैं। वहीं इन सबके बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपनी पार्टी में परिवारवाद के आरोपों को सिरे से नकारा है। लेकिन इस दौरान उन्होने कहा कि राजनेताओं की संतानों को भी चुनाव लड़ने का पूरा हक है।

यहां बता दें कि देश में केंद्र सरकार इस समय भाजपा की है और भाजपा पार्टी में कुछ नेताओं ने बगावती रूप धारण कर लिया है। जिसके बाद स्वयं पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है साथ ही पार्टी में व्याप्त वंशवाद की राजनीति पर भी कुछ राजनेता नाराज हैं।

वहीं भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने इस बात का खंडन किया है। लेकिन उनके अनुसार राजनेताओं के पुत्र भी चुनाव लड़ने के पूर्ण अधिकारी हैं, बशर्ते वे योग्यता के तय पैमानों पर खरे हों।

गौरतलब है कि भाजपा पार्टी इस विधानसभा चुनाव में अपना पूर्ण जोर लगा रही है। वहीं भाजपा महासचिव का यह बयान ऐसे वक्त पर सामने आया है, जब मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में उनके पुत्र आकाश इंदौर से टिकट की दावेदारी कर रहे हैं।

इसके अलावा बता दें कि स्वयं विजयवर्गीय भी इंदौर जिले की महू सीट से विधायक हैं। वहीं भाजपा महासचिव ने कहा अगर मेरी पार्टी को उचित लगेगा, तो वह मेरे बेटे को चुनावी टिकट देगी।

Top Stories