राजभर ने दिया इस्तीफा, बीजेपी के खिलाफ़ 25 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव!

राजभर ने दिया इस्तीफा, बीजेपी के खिलाफ़ 25 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव!

लोकसभा चुनाव 2019 में पहले चरण का मतदान होने के बाद योगी आदित्यनाथ के मंत्री तथा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने आज बड़ा फैसला लिया है।

उन्होंने बलिया में पार्टी के नेताओं के साथ बैठक के बाद अकेले ही 25 सीट पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से अलग होने का फैसला करने वाले ओमप्रकाश राजभर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निजी सचिव को अपना इस्तीफा भी भेज दिया है।

जागरण डॉट कॉम के अनुसार, प्रदेश के कैबिनेट मंत्री व सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल से इस्तीफा देते हुए पूर्वांचल के 25 सीटों पर अपना प्रत्याशी उतारने की घोषणा कर दी है। आज उन्होंने बलिया के रसड़ा में पार्टी के नेताओं के साथ बैठक के बाद मीडिया को भी संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि उन्होंने हमेशा से ही गठबंधन धर्म निभाने का प्रयास किया। सहयोगी दल होने के नाते उन्होंने पूर्वांचल की केवल एक सीट से चुनाव लडऩे का प्रस्ताव रखा लेकिन हमारे प्रस्ताव को दरकिनार करते हुए भाजपा नेतृत्व ढुलमुल की नीति अपनाती रही। सहयोगी दल होने के नाते उन्होंने एनडीए के साथ रहने का अपना धर्म निभाया बावजूद इसके भाजपा नेतृत्व बराबर टाल मटोल करते रहे।

बुझे मन से उन्होंने बताया कि शनिवार की रात मुख्यमंत्री ने उन्हें अपने आवास पर बुलाया और उनसे केवल घोसी लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के सिंबल पर चुनाव लडऩे का प्रस्ताव रखा।

जस पर उन्होंने इंकार कर दिया। हमने स्पष्ट रूप से मुख्यमंत्री को अवगत करा दिया कि हम किसी भी सूरत में भाजपा के सिंबल से चुनाव नहीं लड़े सकते।

उन्होंने कहा कि बार-बार मुख्यमंत्री से आग्रह करने के बाद भी मेरी भावनाओं को नहीं समझा और बाध्य होकर उसी रात तीन बजे भोर में मुख्यमंत्री आवास जाकर उनके निजी सचिव को अपना इस्तिफा सौंप दिया लेकिन निजी सचिव ने लेने से इंकार कर दिया।

उन्होंने बताया कि कार्यकर्ता और जनभावनाओं को देखते हुए अब उन्होंने अकेले ही लोकसभा के छठवीं तथा सातवें चरण के चुनाव में पूर्वांचल से कुल 25 प्रत्याशियों को उतारने की घोषणा कर दी है।

इसके लिए जो भी बाधाएं आएंगी उसका वे डटकर मुकाबला मुकाबला करने को तैयार हैं। प्रदेश में महागठबंधन व कांग्रेस के साथ समझौते से साफ इंकार करते हुए उन्होंने कहा कि सुभारतीय समाज पार्टी अकेले दम पर चुनाव लडऩे को कमर कस चुकी है औ इसके लिए हम अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर देंगे।

Top Stories