राजस्थान के अलवर में लव जिहाद के नाम पर बवाल, ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प, तनाव

राजस्थान के अलवर में लव जिहाद के नाम पर बवाल, ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प, तनाव

राजस्थान में अलवर जिले के मेवात में लव जिहाद का मामले ने तूल पकड़ लिया। सर्व हिंदू समाज संगठन के बैनर तले आज जिले के रामगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र में जुगरावर रूंध में सर्व जाति के ग्रामीणों की महापंचायत में करीब चार हजार लोगों ने भागीदारी की। मामला रामगढ़ इलाके के मस्ताबाद गांव से एक युवती को भगाने से जुडा हुआ है।

इस मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं करने के विरोध में ग्रामीणों में भारी आक्रोश था। आक्रोश के चलते ग्रामीणों ने अलवर-भरतपुर मार्ग पर जुगरावर में रास्ता जाम कर दिया। पुलिस और ग्रामीणों में पथराव हुआ। लाठी-चार्ज हुआ। एक बाईक को आग लगा दी। कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पुलिस ने इस मामले में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

शाम को कामां के पूर्व विधायक जगतसिंह भी जुगरावर पहुंचे। इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है। मस्ताबाद से जुडे इस मामले की रिपोर्ट अलवर शहर के अरावली विहार पुलिस थाने में गत दिनों दर्ज हुई थी। वक्ताओं का पुलिस पर आरोप था कि पुलिस ऐसे मामलों में गंभीरता से कार्रवाई नहीं करती। इसका परिणाम यह है ऐसी वारदातें बढ़ती जा रही हैं। यहां के लोग काफी समय से भगाई गई युवतियों को बरामद करने की मांग करते आ रहे हैं।

सुबह 10 बजे से ही यह महापंचायत चल रही थी हालांकि जिला प्रशासन के अधिकारी व पुलिस अधिकारी पंचायत स्थल से काफी दूर मौजूद थे। वक्ताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों को महापंचायत में बुलाकर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की और करीब 3 से 4 बार अधिकारियों को बुलावा भेजा गया लेकिन कोई भी अधिकारी महापंचायत में नहीं पहुंचा। इस बात से महापंचायत में मौजूद ग्रामीण आक्रोशित हो गए और उन्होंने अलवर भरतपुर मार्ग पर जाम कर दिया। जिससे दोनों और वाहनों लम्बी कतार लग गई।

वहां मौजूद पुलिस ने जाम खुलवाने के प्रयास किए तो लोगों ने पथराव शुरू कर दिया लेकिन पुलिस थोड़ सा दूर होने के कारण पुलिस के चोट नहीं आई लेकिन उपद्रवियों ने रोडवेज बस और ट्रोले में पथराव कर कर क्षतिग्रस्त कर दिया और एक बाइक में आग लगा दी। आगजनी की जैसे ही घटना हुई तो पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया और भगा दिया।

हालात बिगडते देख इसकी सूचना तुरंत ही मुख्यालय को दी गई। और मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस जाप्ता के लिए रवाना किया गया। जैसे ही वहां पर भारी पुलिस फोर्स वहां पहुंचे तो लोग पहाड़ चढ गए। पुलिस उपद्रव करने वाले लोगों की तलाशी में पहाड़ पर चढ़ गई उनको पकड़ने की रात तक कोशिश कर रही है। मौके पर रामगढ़ के उपखंड अधिकारी पंकज शर्मा। पुलिस उपाधीक्षक अशोक चौहान सहित अनेक अधिकारी मौके पर निगरानी रखे हुए हैं।

Top Stories