Thursday , August 16 2018

राजस्थान के सरकारी स्कूलों के छात्रों को सुनाए जाएंगे संत-महात्माओं के प्रवचन

After a panel of judges selects the best three essays in their schools or colleges/universities, the internal security division of the home ministry releases funds to be distributed among students for their prize-winning essays.(File Photo/For Representation)

 

राजस्थान के सरकारी विद्यालयों में सहशैक्षिक गतिविधियों के तहत महीने के प्रत्येक तीसरे शनिवार को संत महात्माओं के प्रवचन आयोजित किये जायेंगे। शिक्षा विभाग की ओर से हाल ही में वर्ष 2018—19 के लिये जारी शैक्षणिक कैलेंडर के अनुसार सभी स्कूलों कें प्रत्येक शनिवार को पांच मिनट के लिये ‘बाल सभा’ आयोजित करने के साथ साथ महीने के प्रत्येक पहले शनिवार को महापुरूषों का जीवन परिचय छात्रों को सुनाया जाएगा। हर महीने दूसरे शनिवार को प्रेरणा देने वाली कहानियां और नैतिक मूल्यों के बारे में छात्रों को बताया जाएगा।

 

प्रत्येक तीसरे शनिवार को राष्ट्रीय महत्व के समसामयिक समाचारों की समीक्षा एवं किसी महापुरूष अथवा स्थानीय संत महात्माओं के प्रवचन और चौथे शनिवार को एक क्विज का आयोजन होगा। पांचवें शनिवार को नैतिक मूल्यों पर नाटक के साथ साथ राष्ट्रभक्ति गीत गायन का आयोजन किया जाएगा। कलैंडर के अनुसार बाल सभा से पृथक रूप से सुबह की प्रार्थना सभा के बाद जीरो आवर के दौरान इन गतिविधियों के आयोजन पर विचार किया जा सकता है।

 

माध्यमिक शिक्षा विभाग के निदेशक की ओर से प्रदेश के सभी सरकारी विद्यालयों में गतिविधियों के संचालन की सुनिश्चिता तय करने के लिये सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को वर्ष 2018—19 का शैक्षणिक कलैंडर जारी किया गया है।

TOPPOPULARRECENT