Tuesday , December 19 2017

राजस्थान पुलिस ने झूटी इत्तिला दी : मलऊन रुशदी का इद्दिआ

न्यूयॉर्क, २३ जनवरी ( पी टी आई ) जयपुर अदबी फेस्टिवल में शिरकत ना करने के अपने फैसले के दो दिन के बाद मलऊन सलमान रुशदी ने ब्रहमी ज़ाहिर करते हुए इल्ज़ाम आइद किया कि राजस्थान पुलिस ने इस से झूट बोला था और राजस्थान पुलिस ने ही इस फेस्टिव

न्यूयॉर्क, २३ जनवरी ( पी टी आई ) जयपुर अदबी फेस्टिवल में शिरकत ना करने के अपने फैसले के दो दिन के बाद मलऊन सलमान रुशदी ने ब्रहमी ज़ाहिर करते हुए इल्ज़ाम आइद किया कि राजस्थान पुलिस ने इस से झूट बोला था और राजस्थान पुलिस ने ही इस फेस्टिवल से उसे दूर रखने के लिए ये कहानी गढ़ी थी ।

रुशदी ने अपनी जान को ख़तरा होने का अंदेशा ज़ाहिर करते हुए दौरा हिंद मंसूख़ कर दिया था । रुशदी ने माईक्रो ब्लॉगिंग साईट ट्वीटर पर ये रिमार्कस किए हैं और अपनी ब्रहमी ज़ाहिर की है । इस ने हिंदूस्तानी ज़राए इबलाग़ की इन इत्तिलाआत पर रद्द-ए-अमल का इज़हार किया कि राजस्थान पुलिस ने रुशदी को फेस्टिवल से दूर रखने के लिए ये मंसूबा तैयार किया था ।

रुशदी ने अपने ट्वीटर पर तहरीर किया है कि राजस्थान पुलिस ने उसे फेस्टिवल से दूर रखने मंसूबा तैयार किया था । इस ने जायज़ा लिया है और उसे यक़ीन है कि यक़ीनी तौर पर इस से झूट कहा गया था । वो बहुत ज़्यादा ब्रहम है ।

इससे ट्वीटर पर सवाल किया गया था कि आया वही ( राजस्थान ) पुलिस इस मंसूबा के लिए ज़िम्मेदार है जो उस की ममनूआ किताब के इक़तिबासात पढ़ने वाले मुसन्निफ़ीन हरी अमतवेता जीत और रोचर को गिरफ़्तार करने की कोशिशें कर रही है ।

रुशदी ने जवाब में तहरीर किया कि वो नहीं जानता कि अहकाम किस ने दिए थे लेकिन यक़ीनन वही ( राजस्थान ) पुलिस ने ये मंसूबा तैयार किया था । रुशदी ने ट्वीटर पर एक न्यूज़ रिपोर्ट का लिंग भी पेश किया है जिस में कहा गया है कि राजस्थान इंटेलीजेन्स के ओहदेदारों ने ये इत्तेला फैलाई थी कि रुशदी कोक़त्ल करने का मंसूबा तैयार किया जा रहा है ताकि उसे इस अदबी फेस्टिवल से दूर रखा जा सके ।

मलऊन रुशदी ने फेस्टिवल में शिरकत से ये कहते हुए इनकार कर दिया था कि महाराष्ट्रा और राजस्थान में इंटेलीजेंस ज़राए ने उसे मतला किया है कि मुंबई अंडरवर्ल्ड से ताल्लुक़ रखने वाले निशाना बाज़ उसे हलाक कर देंगे अगर वो हिंदूस्तान आता है ।

रुशदी ने इन इत्तेलात की सदाक़त पर शकूक का इज़हार किया था ताहम कहा था कि इन हालात में अगर वो हिंदूस्तान का दौरा करता है तो ये उस की गैर ज़िम्मेदारी होगी की उनका वो दूसरे मुसन्निफ़ीन और शुरका की ज़िन्दगियों को ख़तरा में डालना नहीं चाहता ।

इन हालात पर बतौर-ए‍एहतिजाज मुसन्निफ़ीन एम वीता कुमार हरी कनज़रो रोचर जोशी और जीत थाएल ने इस की ममनूआ तसनीफ़ शैतानी कलिमात के इक़तिबासात पढ़ कर सुनाए थे । इस किताब में शान रिसालत स० अ‍० व० में गुस्ताख़ी की वजह से इस पर हिंदूस्तान में इमतिना आइद कर दिया गया था ।

पुलिस अब फेस्टिवल की वीडियो देखने की कोशिश कर रही है ताकि उन इक़तिबासात को पढ़ने का जायज़ा लेकर मज़ीद कार्रवाई की जा सके । मलऊन रुशदी की अदम शिरकत के बावजूद जुए पर अदबी फेस्टिवल पर इस के मनहूस साये हनूज़ बरक़रार हैं।

आज जबकि मशहूर टी वी शख्सियत ओफ़रा विनफ्रे एक सुशन से ख़िताब कर हरी थीं एक और मुक़ाम पर पब्लिशर एस आनंद इन मुंसिफ़ीन से उलझ गए जो उन के मुताबिक़ सलमान रुशदी और इस की ताईद करने वालों से दूर होगए ।

आनंद ने एक सुशन के दौरान ये तन्क़ीद की ताहम फेस्टिवल की आर्गेनाईज़र नमीता गोखले ने फ़ौरी वहां वज़ाहत की । फेस्टिवल में शैतानी कलिमात के इक़तिबासात पढ़े गए थे । फेस्टिवल के मुंतज़मीन ने फ़ौरी एक बयान जारी करते हुए इन चार मुसन्निफ़ीन से ख़ुद को दूर कर लिया जिन्होंने शैतानी कलिमात के इक़तिबासात पढ़े थे ।

नमीता गोखले ने आनंद की तन्क़ीद पर फ़ौरी वज़ाहत करते हुए कहा था कि ये दरुस्त नहीं है कि इन चारों मुसन्निफ़ीन से फेस्टिवल से चले जाने को कहा गया है । मुंतज़मीन की जानिब से उन की सिक्योरीटी का हनूज़ इंतिज़ाम किया जा रहा है और उन्हें वहां से जाने की इजाज़त नहीं दी गई है ।

उन्होंने कहा कि अफ़सोस की बात ये है कि इस फेस्टिवल में ज़ाइद अज़ 265 मुसन्निफ़ीन और अदीब शिरकत कर रहे हैं और इस सारे मुआमला की वजह से उन्हें नज़रअंदाज किया जा रहा है ।

उन्हों ने कहा कि पुलिस और रियास्ती हुकूमत उन के साथ तआवुन कर रही है और मुंतज़मीन पर यहां के शुरका की सिक्योरीटी को यक़ीनी बनाने की ज़िम्मेदारी है ।

TOPPOPULARRECENT