Monday , December 11 2017

राजस्थान में किसान आन्दोलन खत्म, सरकार लगभग सभी मांगो को मानने को तैयार

जयपुर। प्रदेश में भारतीय किसान संघ के आह्वान पर चल रहा किसानों का आंदोलन पांचवें दिन सोमवार रात को खत्म हो गया। किसान संघ व सरकार के बीच जयपुर के विद्युत भवन में करीब 11 घंटे तक चली वार्ता के बाद सभी मुद्दों पर चर्चा हुई और सहमति बनी। इसके बाद संघ ने प्रदेश भर में रात साढ़े दस बजे आंदोलन वापस लेने का निर्णय किया।

सरकार की ओर से गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया, ऊर्जा मंत्री पुष्पेन्द्रसिंह राणावत, कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, सिंचाई मंत्री रामप्रताप, सहकारिता मंत्री अजय किलक और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परमानी वार्ता में मौजूद थे।

किसान संघ प्रदेश महामंत्री कैलाश गंदोलिया व आंदोलन सह संयोजक जोधपुर के तुलछाराम सिंवर के अनुसार सुबह 11 बजे किसान संघ प्रतिनिधियों को सरकार ने वार्ता के लिए फिर से बुलाया। सभी मंत्रियों से अपने-अपने विभाग के मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई। इसके बाद इन मुद्दों पर सहमति बन गई।

रात साढ़े दस बजे किसान संघ की प्रदेश कोर कमेटी ने जयपुर में आंदोलन खत्म करने की घोषणा कर दी। बैठक में किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष मणिलाल लबाना, जोधपुर प्रांत अध्यक्ष हीरालाल चौधरी, जयपुर अध्यक्ष छोगालाल सैनी, जोधपुर संभाग आन्दोलन सह संयोजक तुलछाराम सिंवर, चित्तौड़ प्रांत महामंत्री प्रवीणसिंह चौहान, बीकानेर संभाग संयोजक विनोद धारणिया, कोटा संभाग संयोजक जगदीशप्रसाद और जोधपुर जिला अध्यक्ष नरेश व्यास उपस्थित थे।

किसान संघ के आह्वान पर मंगलवार को प्रदेश भर में अनाज मंडिया बंद करने का एेलान किया गया था, लेकिन रात में आंदोलन खत्म होने की घोषणा के साथ ही मंडी बंद का आह्वान वापस ले लिया गया है। प्रदेश में अब मंगलवार को सभी अनाज मंडिया खुलेगी।

TOPPOPULARRECENT