Monday , December 11 2017

राजिस्थान के साबिक़ वज़ीर इस्मत रेज़ि केस में गिरफ़्तार

राजिस्थान के साबिक़ वज़ीर बाबू लाल नागर को गुजिश्ता माह एक 35 साला औरत की इस्मत रेज़ि और ज़द्द-ओ-कूब के इल्ज़ाम के तहत सी बी आई ने आज गिरफ़्तार करलिया।

राजिस्थान के साबिक़ वज़ीर बाबू लाल नागर को गुजिश्ता माह एक 35 साला औरत की इस्मत रेज़ि और ज़द्द-ओ-कूब के इल्ज़ाम के तहत सी बी आई ने आज गिरफ़्तार करलिया।

सी बी आई टीम ने गिरफ़्तारी से क़बल उनसे 6 घंटों तक पूछगिछ की। सी बी आई के तर्जुमान कंचन प्रसाद ने कहा कि राजिस्थान के साबिक़ वज़ीर को दफ़ा 323 और 376 (मुबय्यना इस्मत रेज़ि) के तहत गिरफ़्तार किया गया है। इस से क़बल उनसे 6 घंटों तक पूछगिछ की गई थी।

उन्हें तिब्बी मुआइने के लिए मुंतक़िल किया जा रहा है और आज‌ अदालत में पेश किया जाएगा। ओहदेदारों ने कहा कि सी बी आई के ज़िम्मेदार बाबू लाल नागर का सर्किट हाउस‌ में बयान कलमबंद करचुके हैं जहां आज उनसे कई घंटों तक पूछगिछ की गई थी। नागर ने सर्किट हाउस‌ में दाख़िल होते हुए अख़बारी नुमाइंदों से कहा कि उन्हें सी बी आई तहक़ीक़ात पर भरपूर भरोसा और वो तहरीरी तौर पर अपना बयान देंगे। पुलिस ने नागर के ख़िलाफ़ 11 सितंबर को एक औरत पर दस्त दराज़ी और इस्मत रेज़ि के इल्ज़ामात के तहत मुक़द्दमा दर्ज किया था।

बयान किया जाता है कि नागर ने उस औरत को मुलाज़मत दिलाने के बहाने अपने सरकारी बंगला पर तलब किया था। नागर ने ख़ातून की इस्मत रेज़ि से इनकार किया है अलबत्ता उन्होंने ये ज़रूर कहा कि वो तहक़ीक़ात के दौरान सी बी आई से मुकम्मल तआवुन करेंगे। याद रहे कि सोडाला पुलिस स्टेशन ने नागर के ख़िलाफ़ एक ख़ातून की मुबय्यना इस्मत रेज़ि का मुआमला दर्ज किया था जहां ख़ातून के बयान के मुताबिक़ 11 सितंबर को नागर ने जयपुर में वाके अपने सरकारी बंगला में ख़ातून को मुलाज़मत देने के बहाने तलब किया था और उस की इस्मत रेज़ि की थी।

सी बी आई ने 9 अक्टूबर को राजिस्थान पुलिस से तहक़ीक़ाती ज़िम्मेदारी ख़ुद हासिल करली थी। याद रहे कि इस वाक़िया के बाद बाबू लाल नागर ने अपनी वज़ारत से इस्तीफ़ा देदिया था। सी बी आई ने मुतास्सिरा ख़ातून का भी बयान उसकी रिहायश गाह पर कलमबंद किया है। नागर को गुजिश्ता माह कांग्रेस हाईकमान ने कांग्रेस पार्टी से मुअत्तल कर दिया है।

TOPPOPULARRECENT