Friday , December 15 2017

राजीव गाँधी के ख़ाबों की तकमील पर ज़ोर

मुदव्वर 22 मई: हलक़ा एसम्बली जनगावें में शामिल तमाम मंडल मुस्तक़रों पर मंडल कांग्रेस कमेटीयों की तरफ से साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म आँजहानी राजीव गाँधी की 22 वीं बरसी तक़ारीब कांग्रेस पार्टी क़ाइदीन-ओ-कारकुनों की तरफ से जोश-ओ-ख़ुरोश के साथ मनाई

मुदव्वर 22 मई: हलक़ा एसम्बली जनगावें में शामिल तमाम मंडल मुस्तक़रों पर मंडल कांग्रेस कमेटीयों की तरफ से साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म आँजहानी राजीव गाँधी की 22 वीं बरसी तक़ारीब कांग्रेस पार्टी क़ाइदीन-ओ-कारकुनों की तरफ से जोश-ओ-ख़ुरोश के साथ मनाई गईं।

राजीव गाँधी को 21 मई 1991‍की शब वस्त मुद्दती चुनाव के ज़िमन में कांग्रेस चुनाव मुहिम के दौरान तमिलनाडू के सिरी पेरंबुदूर में मुबयना तौर पर इंसानी बम के ज़रीये हलाक कर दिया।

नौजवान कारकुनों की तरफ से मुफ़्त ख़ून का अतीया दिया गया नीज़ दवा ख़ानों में ज़ेर-ए-इलाज मरीज़ों में दूध, डबल रोटी, मेवाजात तक़सीम किए गए।

चीरयाल टाउन में मुनाक़िदा राजीव गांधी की 22 वीं बरसी तक़रीब को मुख़ातिब करते हुए एम एलसी इन राजा लिंगम गौड़ , मशयाला कशटया, मुहम्मद अतहर अहमद , एन किरण कुमार गौड़ और दीगर ने राजीव गांधी के क़तल कुमलक के लिए नाक़ाबिल तलाफ़ी नुक़्सान क़रार दिया और मुल्क-ओ-रियासत की हमा जहती तरक़्क़ी के लिए राजीव गाँधी और इंदिरा गाँधी के ख़ाबों को पूरा करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT