Friday , December 15 2017

राजीव गांधी इंटरनेशनल एयर‌पोर्ट से तुर्की कार्गो सरविस का आग़ाज़

आइन्दा माह से दो एय‌र बस चलाने का ऐलान , सी ई ओ जी ऐम आर सी जी के किशवर का बयान

आइन्दा माह से दो एय‌र बस चलाने का ऐलान , सी ई ओ जी ऐम आर सी जी के किशवर का बयान

तुर्की कार्गो सरविस ने राजीव गांधी इंटरनेशनल एयर‌ पोर्ट से कार्गो ख़िदमात का आग़ाज़ कर दिया है। तुर्की कार्गो कंपनी की जानिब से आइन्दा माह से हफ़्ते में दो एय‌र बस A330-200F कार्गो परवाज़ें चलाई जाएंगी जो कि हैदराबाद से 260 मुक़ामात के लिए होंगी। तुर्की कार्गो की ख़िदमात लैटिन अमरीका , यूरोप , अफ़्रीक़ा के अलावा कॉमनवेल्थ इंडिपेंडेंट‌ इस्टेट्स में भी होगी।

राजीव गांधी इंटरनेशनल एय‌र पोर्ट जो कि जी एम आर हैदराबाद इंटरनेशनल एय‌र पोर्ट लिमिटेड की ज़ेरे निगरानी ख़िदमात अंजाम दे रहा है, से तुर्की कार्गो ख़िदमात के आग़ाज़ के बाद एय‌र पोर्ट की एहमीयत में मज़ीद इज़ाफ़ा होचुका है क्योंकि कार्गो ख़िदमात की हैदराबाद से मुख़्तलिफ़ ममालिक को जोड़ने में जी ऐम आर अर पोर्ट कलीदी किरदार अदा कर रहा है।

तुर्की कार्गो ख़िदमात के हैदराबाद से आग़ाज़ पर चीफ़ अगज़ीक्युटिव ऑफीसर जी ऐम आर हैदराबाद इंटरनेशनल एय‌र पोर्ट मिस्टर सी जी के किशवर ने उसे एक बेहतरीन इब्तिदा-ए-क़रार देते हुए कहा कि इस से क़बल भी दीगर एय‌र लायंस-ओ-कार्गो ख़िदमात ने जी ऐम आर से अपनी ख़िदमात का आग़ाज़ किया है और अब तुर्की कार्गो की जानिब से शुरू करदा ख़िदमात अर पोर्ट की एहमियत में इज़ाफे का बाइस बनेगी।

उन्होंने बताया कि राजीव गांधी इंटरनेशनल एयर पोर्ट के कार्गो टर्मीनल की जो गुंजाइश है, वो एक लाख पचास हज़ार टन सालाना की है, जो कि एक मीलियन मैट्रिक टन तक होती है। आर जी आई ए में हिन्दुस्तान का पहला फार्मा ज़ोन तामीर किया गया जो कि हरारत को कंट्रोल में रखते हुए ज़रूरत के मुताबिक़ हिद्दत की फ़राहमी का मुतहम्मिल है।

TOPPOPULARRECENT