Monday , December 18 2017

राजीव गांधी के कातिल ने गोल्ड मेडल जीता

चेन्नई, 15 मार्च: साबिक वज़ीर ए आज़म राजीव गांधी के कत्ल के मामले में मुजरिम ठहराए जा चुके पेरारिवलन ने जेल महकमा की ओर से मुनाकिद तालीमी और पेशावराना तरबियत प्रोग्राम (Educational and vocational training programs) के एक डिप्लोमा कोर्स में गोल्ड मेडल जीता है।

चेन्नई, 15 मार्च: साबिक वज़ीर ए आज़म राजीव गांधी के कत्ल के मामले में मुजरिम ठहराए जा चुके पेरारिवलन ने जेल महकमा की ओर से मुनाकिद तालीमी और पेशावराना तरबियत प्रोग्राम (Educational and vocational training programs) के एक डिप्लोमा कोर्स में गोल्ड मेडल जीता है।

यहां जारी अलामिया ( Communique) के मुताबिक वेल्लोर सेंट्रल जेल में बंद पेरारिवलन ने डेस्क टॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर के डिप्लोमा कोर्स में पहला दर्ज़ा हासिल कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

इस तरबिय प्रोग्राम का इंइकाद महात्मा गांधी कम्यूनिटी कॉलेज और तमिलनाडु ओपन यूनिवर्सिटी की मदद से किया गया था।

पेरारिवलन के साथ मुरुगन और संतन को भी 1991 में राजीव गांधी के कत्ल के मामले में सजाए मौत दिया गया था। इन तीनों की रहम की दरखास्त को राष्ट्रपति ने खारिज कर दिया था जिसे तीनों ने चैलेंज दिया था । यह मामला अब सुप्रीम कोर्ट में ज़ेर ए गौर है।

अलामिया में बताया गया कि कैटरिंग असिस्टेंट, फोर व्हीलर मकैनिक, डेस्क टॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर और हाउस इलेक्ट्रिशियन के डिप्लोमा कोर्स में पहला दर्ज़ा हासिल करने वाले कैदियों को गोलड मेडल दिया गया। इसके लिए जनवरी 2012 में 185 कैदियों ने इम्तेहान दिया था जिनमें से 175 कैदी पास हुए।

TOPPOPULARRECENT