राज्यपाल ने बसपा कार्यकर्ताओं के विरोध का सख़्त नोट लिया

राज्यपाल ने बसपा कार्यकर्ताओं के विरोध का सख़्त नोट लिया
Click for full image

लखनऊ: राज्यपाल उत्तर प्रदेश राम नाईक एस आज बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के कार्यकर्ताओं की ओर से विरोध और गाली गलौज की शिकायतों की समीक्षा करते हुए उनके वीडियो और ऑडियो मांगी हैं। बसपा अध्यक्ष मायावती के खिलाफ भाजपा नेता दयाशंकर सिंह की टिप्पणी पर विरोध करने वाले बसपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात कर शिकायत की कि बसपा के उच्च नेताओं ने विरोध के दोरान बुरी भाषा का इस्तेमाल किया और गाली गलौज की।

राज्यपाल ने भाजपा के प्रतिनिधिमंडल की शिकायत और बसपा नेताओं से गाली गलौज करने से संबंधित समाचार रिपोर्टों के द्वारा होद नोट लेकर इस घटना की तस्वीरें ली हैं। बसपा के उच्च नेताओं ने जो नसीरुद्दीन सिद्दीकी भी हैं हजरत बल के पास गुरुवार को विरोध किया था। राज्यपाल नाइक ने कहा कि मैं प्रबंधन और पुलिस को निर्देश दिया है कि वह इन घटनाओं के ऑडियो और वीडियो तस्वीरें प्रदान करे। इसके अलावा विरोध अन्य दस्तावेज भी डालें। भाजपा के प्रतिनिधिमंडल से कहा कि यदि वे भी कवि रिकॉर्ड रखते हैं डालें। जानकारी प्रदान करने के लिए कोई समय निर्धारित नहीं किया गया। पुलिस ने पहले ही कहा है कि उसने सारे विरोध और हंगामे की वीडियोग्राफी की है। इस समीक्षा के बाद ही कार्रवाई करेगी।

Top Stories