राज्यसभा की सीटों पर राम जेठमलानी का नहीं पहला हक़ मुस्लिम और यादव का है: डॉ एजाज़ अली

राज्यसभा की सीटों पर राम जेठमलानी का नहीं पहला हक़ मुस्लिम और यादव का है: डॉ एजाज़ अली

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) द्वारा वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी को बिहार से राज्यसभा का प्रत्याशी बनाए जाने पर पार्टी के अंदर ही विरोध शुरू हो गया है। पार्टी के पूर्व सांसद डॉ. एजाज अली ने कहा कि राज्यसभा की सीटों पर पहला हक यादवों और मुसलमानों का बनता है, लेकिन मुसलमानों का हक काटकर यह जेठमलानी को दिया जा रहा है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

एक क्षेत्रीय समाचार चैनल से बातचीत करते हुए उन्‍होंने कहा कि लालू प्रसाद को लगता है कि जैसे अमित शाह को ‘क्लीन चिट’ मिल गई है, वैसे ही उनको भी चारा घोटाले में क्लीन चिट मिल जाएगी। यही कारण है कि लालू मुसलमानों की कुर्बानी दे रहे हैं।

इसके साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि लालू जो सोच रहे हैं, वह अगर नहीं हुआ, तो लालू न इधर के रहेंगे और न ही उधर के। एजाज ने कहा कि यदि जेठमलानी राजद अध्यक्ष को क्लीन चिट दिलवा देते हैं, तो लगेगा कि मुसलमानों और दलितों की कुर्बानी काम आ गई।

Top Stories