Tuesday , November 21 2017
Home / India / राज्यसभा में सरकारी बैंकों के कॉरपोरेट घरानों पर बकाए कर्ज का मुद्दा उठा

राज्यसभा में सरकारी बैंकों के कॉरपोरेट घरानों पर बकाए कर्ज का मुद्दा उठा

New Delhi: Opposition members protest in the Rajya Sabha in New Delhi on Tuesday. PTI Photo / TV GRAB (PTI12_22_2015_000269A)

नई दिल्ली : जदयू के सांसद पवन वर्मा ने गुरुवार को राज्यसभा में सरकारी बैंकों के कॉरपोरेट घरानों पर बकाए कर्ज का मुद्दा उठाया। वर्मा ने कहा कि अडाणी ग्रुप पर 72 हजार करोड़ रुपए बकाया हैं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता इस व्यापारिक घराने से सरकार के क्या रिश्ते हैं? पवन वर्मा ने कहा कि मुझे यह भी नहीं पता कि सरकार इन्हें जानती है कि नहीं, लेकिन इस ग्रुप के मालिक अडाणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन, ब्रिटेन, अमरीका, यूरोप और जापान हर यात्रा में उनके साथ नजर आए। पवन वर्मा ने बकाएदारों की पूरी रिपोर्ट पढ़ते हुए कहा कि अडाणी ग्रुप नाम के इस समूह पर लगभग 72000 करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है।

सरकारी बैंकों पर ऐसे लोगों को लोन देने के लिए दबाव डाला जाता है, जो कर्ज चुका पाने में सक्षम नहीं हैं। सरकारी बैंकों का लगभग 5 लाख करोड़ रुपए बकाया है। गुजरात में इनके सेज को हाईकोर्ट की बाध्यता के बावजूद मान्यता दी गई। राज्यसभा के उपसभापति पीजे कूरियन ने वर्मा को चेताया कि वे आरोप न लगाएं। इस पर वर्मा ने कहा कि मैं आपको तथ्यात्मक जानकारी दे रहा हूं। यह हाईकोर्ट का आदेश है। यूपीए सरकार ने इसे मान्यता नहीं दी और जब यह सरकार सत्ता में आई तो इसे मान्यता मिल गई।

TOPPOPULARRECENT