राफेल मामले पर अब जेपीसी जांच की जरूरत नहीं – अखिलेश यादव

राफेल मामले पर अब जेपीसी जांच की जरूरत नहीं – अखिलेश यादव

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राफेल विमान खरीद में मामले में उच्चतम न्यायालय के आदेश को सुप्रीम बताते हुए कहा है कि अब इस पर जेपीसी  से जांच कराए जाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अब इस पर कोई भी बात उसी सुप्रीम कोर्ट के दर पर ही होनी चाहिए।
अखिलेश यादव का यह कदम कांग्रेस के रुख के विपरीत माना जा रहा है। अखिलेश यादव ने शनिवार को पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उच्चतम न्यायालय का फैसला अंतिम है और अब इस पर कोई टिप्पणी करना उचित नहीं है। भविष्य में भी अगर इस मामले पर कोई संदेह उभरता है तो उसे उच्चतम न्यायालय में ही रखा जाना चाहिए।
यह पूछे जाने पर कि सपा ने पहले तो इस पर जेपीसी से जांच की मांग की थी, तो अखिलेश ने कहा कि जब मांग की थी तब यह मामला सुप्रीम कोर्ट नहीं गया था।
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लोग मूर्ति लगाने में व्यस्त हैं। अभी 3 चुनावों में बीजेपी का रंग बदला है।  यूपी में चुनाव के बाद इनका रंगऔर बदल जाएगा। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार ने सिर्फ नाम बदलने का काम किया है। शुरुआत में तो भाजपा के लोग सिर्फ रंग पोत रहे थे फिर अब नाम बदलना शुरू कर दिया। अब मूर्तियां लगाने में जुट गये।
पीएम की रायबरेली यात्रा पर अखिलेश यादव ने कहा कि वह कुछ काम बताएं तो ज्यादा अच्छा होगा। ये बीजेपी ने नई संस्कृति लाने का प्रयास किया है । उद्घाटन का उद्घाटन शिलान्यास का शिलान्यास। लेकिन समाजवादी कामों को भाजपाई कहां स्वीकार करते हैं। प्रधानमंत्री  ने नोएडा में जो उद्घाटन किया था वो हमारा था।
श्री यादव ने कहा कि भाजपा राज में कानून व्यवस्था मजाक बन गया है। मुख्यमंत्री जी की ‘ठोंको‘ नीति का असर दिख रहा है कि कहीं पुलिस जनता को ठोंक रही है तो कहीं जनता पुलिस को ठोंक रही है।
अब सन् 2019 का चुनाव भाजपा के कागजी विकास बनाम समाजवादी सच्चे विकास के बीच होगा। श्री  भाजपा-संघ परिवार लोकतंत्र पर तानाशाही लादना चाहते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री श्री यादव ने कहा कि भाजपा मुद्दों को भटकाने और जनता को झूठे सपने दिखाने में अव्वल है। इसी के बूते उसने केन्द्र और राज्य में सत्ता हासिल की। लेकिन अब लोगों का मोहभंग हो गया है और लोग बदलाव के लिए व्यग्र हैं।

Top Stories