Wednesday , December 13 2017

रामगढ़ लिन्चिंग केस : एक दुर्घटना में प्रमुख गवाह की पत्नी की हुई मौत

अलीमद्दीन अंसारी को झारखंड के रामगढ़ जिले में 29 जून को गोमांस ले जाने के संदेह पर कुछ अज्ञात लोगों की एक भीड़ ने मार दिया था। वह कम से कम 10 लोगों की एक गुस्से की भीड़ से घिरे हुए थे, जिन्होंने उनको बार-बार छड़ी से मारा की उनकी मौत हो गयी।

कोई भी उनकी सहायता के लिए आगे नहीं आया पुलिस को फोन करने के बाद भी, वह पुलिसकर्मियों द्वारा अस्पताल ले गए, पर अस्पताल पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गयी।

शहजाद अपनी चाची को निकटतम अस्पताल में ले गया, लेकिन बाद में अस्पताल में उनकी मौत हो गयी।

अलीमुद्दीन के बड़े भाई साहमुद्दीन अंसारी ने बताया:

जब पूछा गया कि क्या परिवार को सीधे धमकी दी गई है, तो अलीमुद्दीन के बड़े भाई ने कहा कि वे नहीं थे, लेकिन इसका मतलब यह नहीं था कि वे लगातार धमकी महसूस नहीं करते।

रामगढ़ पुलिस अधीक्षक किशोर कौशल ने कहा कि वह इस मामले की जांच करेंगे।

एक अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि उसकी मौत सिर्फ एक दुर्घटना है और प्रेरित नहीं है।

अलीमुद्दीन के 6 बच्चे हैं, जो जिंदा रहने के लिए उस पर पूरी तरह भरोसा करते थे। अदालत की सुनवाई, धमकी के माहौल में, एक परिवार के लिए न्याय के रास्ते में बाधा डालती है जो अभी तक किसी प्रियजन के नुकसान से पूरी तरह से उबरने के लिए नहीं है।

TOPPOPULARRECENT