Monday , December 11 2017

रामजस कॉलेज में एबीवीपी के विरोध प्रदर्शन ने हिसंक रंग लिया

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) के सदस्यो ने मंगलवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के ‘रामजस कॉलेज’ में एक सेमीनार के दौरान विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने यह विरोध प्रदर्शन, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के पीएचडी स्कॉलर और छात्र कार्यकर्ता , उमर खालिद जिनपर पिछले साल राज द्रोह का आरोप लगाया था उनके उस सेमीनार में ‘वक्ता’ बनने पर किया ।

2 दिन का यह सेमीनार वर्ल्डक्राफ्ट, द लिटरेरी सोसाइटी और रामजस कॉलेज द्वारा ” विरोध की संस्कृति” विषय पर आधारित था ।

“दक्षिणपंथी छात्र समूह द्वारा विरोध प्रदर्शन हिंसक होता जा रहा था और सम्मलेन के आयोजकों को अपना सम्मेलन एक कमरे के अंदर बंद होकर करना पड़ा। इस बीच एबीवीपी ने पथराव और खिड़कियों पर ईंटे फेंकना शुरू कर दिया था,” सम्मेलन कक्ष के अंदर बंद रामजस कॉलेज की एक छात्रा ने बताया।

इस कारण उमर खालिद ने अपनी भागीदारी रद्द कर दी ।

खालिद ने आरोप लगाया की 100 से अधिक एबीवीपी के कार्यकर्ता कॉलेज के बाहर उपद्रव मचाने के लिए इकठे हो गए थे। “वे किस चीज़ से डरते हैं, आदिवासियों के खिलाफ शुरू किये गए युद्ध के बारे में बात करने से ? “, उमर ने कहा।

TOPPOPULARRECENT