रामी हमदुल्लाह मख़्लूत फ़लस्तीनी हुकूमत के सरब्राह मुक़र्रर

रामी हमदुल्लाह मख़्लूत फ़लस्तीनी हुकूमत के सरब्राह मुक़र्रर
फ़लस्तीनी सदर महमूद अब्बास अब्बास ने अपनी जमात अल फ़तह और इस्लामी तहरीक मुज़ाहमत हम्मास के इत्तिफ़ाक़े राय से सुबुकदोश वज़ीरे आज़म रामी हमदुल्लाह को बाज़ाब्ता तौर पर नई क़ौमी उबूरी हुकूमत का सरब्राह मुक़र्रर कर दिया है, ताहम वज़ीरे

फ़लस्तीनी सदर महमूद अब्बास अब्बास ने अपनी जमात अल फ़तह और इस्लामी तहरीक मुज़ाहमत हम्मास के इत्तिफ़ाक़े राय से सुबुकदोश वज़ीरे आज़म रामी हमदुल्लाह को बाज़ाब्ता तौर पर नई क़ौमी उबूरी हुकूमत का सरब्राह मुक़र्रर कर दिया है, ताहम वज़ीरे ख़ारजा के नाम पर इत्तिफ़ाक़े राय ना होने के बाइस मख़्लूत हुकूमत का एलान मंसूख़ कर दिया गया है।

फ़लस्तीनी अथार्टी के एक सीनियर ओहदेदार ने ख़बररसां इदारा ए एफ़ पी को बताया कि मख़्लूत क़ौमी हुकूमत की तशकील का मरहला तक़रीबन मुकम्मल हो चुका है मगर वज़ीरे ख़ारजा के नाम पर हम्मास और अल फ़तह दोनों सदर महमूद अब्बास से इख़तिलाफ़ कर रहे हैं।

सदर अब्बास उबूरी वज़ारते ख़ारजा का क़लमदान रियाज़ अल मालिकी को देने पर बज़िद हैं जबकि उन की अपनी जमात फ़तह और हम्मास इस फ़ैसले की मुख़ालिफ़त कर रही हैं। रियाज़ 2007 से फ़लस्तीनी हुकूमत के वज़ीरे ख़ारजा के ओहदा पर ख़िदमात अंजाम देते आ रहे हैं।

Top Stories