Monday , December 11 2017

राम की पैदाइश की जगह में ही राम मंदिर बनना चाहिए : मिस्टर जोशी

राज्यसभा में अक्सारियत नहीं होने की वजह से ताखीर हो रहा है

रांची : मिस्टर जोशी ने कहा रामजन्म भूमि में ही राम मंदिर बनना चाहिए। इसमें कोई सेकेंड ओपिनियन नहीं हो सकता है। इस सिम्त में शुरुवात होनी चाहिए। फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट में जेरे गौर है। राज्यसभा में बहुमत नहीं होने की वजह से भी शायद ताखीर हो रहा है। आज की सुरते हाल में फैसला करनेवालों को तय करना चाहिए कि राम मंदिर कैसे बने।

वहीं संघ के ऑल इंडिया तशहीर चीफ़ मनमोहन वैद्य ने कहा कि साईं बाबा को लेकर संघ के ख्याल मीडिया में अलग-अलग तरह से आ रहे है़ं। संघ का मानना है कि हिंदू समाज में अपना-अपना देवता-भगवान तय करने और पूजा करने का हक़ है़। हिंदू समाज में दरख्त की पूजा होती है, तो कुछ लोग पहाड़ को भी देवता मानते है़ं। संघ के कई स्वयंसेवक भी साईं भक्त है़ं। मिस्टर वैद्य ने सहाफ़ियों से कहा कि सर संघ चालक ने एख्तेताम तक़रीर दिया है़। उन्होंने कहा है कि संघ को काम करते 90 साल बीत गये़ यह काम की रुकावट मुखालिफत करते हुए संघ के साथ हुकूमत, मदद और हिमायत देने के लिए समाज आगे आ रहा है़। यह काम की खिदमत और मर्दांगी से हो रहा है़। निजाम को कायम रखते हुए सबको साथ लेकर चलना है़। अच्छा समाज कायम करना है़। मिस्टर वैद्य ने कहा कि ज़ाती मुफाद से ऊपर उठना है़। संघ के फी समाज ने हिमायत की है़। समाज तबदीली के लिए स्वयं सेवक आगे आये़ं।

जोशी ने कहा कि रिज़र्वेशन को लेकर संघ की बातों को सही तरीके से नहीं रखा गया। रिज़र्वेशन समाज के लिए सही है । संघ ने सिर्फ इतना कहा कि रिज़र्वेशन  सही लोंगों तक पहुंचे।  इतना कहा गया कि रिज़र्वेशन जिनको मिलना चाहिए मिल रहा है या नहीं, इस पर गौर होना चाहिए।  कहीं पर यह नहीं कहा गया कि रिज़र्वेशन पर दुबारा गौर हो। रिज़र्वेशन की पॉलिसी की कमियों को दूर करना चाहिए।  जब तक जरूरत है लोगों को रिज़र्वेशन मिलना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT