Saturday , April 21 2018

राम मंदिर तामीर कर ने का मकतूब, सेकुलर सिंडीकेट की साज़िश

बी जे पी ने आज कहा कि अयोध्या में राम मंदिर की तामीर पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़ करने आए आला ओहदेदारों का इजलास तलब करने से मुताल्लिक़ यू पी हुकूमत का मुतनाज़ा मकतूब दरअसल सेकुलर सिंडीकेट की साज़िश है।

बी जे पी ने आज कहा कि अयोध्या में राम मंदिर की तामीर पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़ करने आए आला ओहदेदारों का इजलास तलब करने से मुताल्लिक़ यू पी हुकूमत का मुतनाज़ा मकतूब दरअसल सेकुलर सिंडीकेट की साज़िश है।

कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बी एस पी मिल कर अपना एक सेकुलर सिंडीकेट बनाते हुए 2014 के आम इंतेख़ाबात में सेकुलर ताक़तों की मदद करने की कोशिश कर रहे हैं। बी जे पी के क़ौमी नायाब सदर मुख़तार अब्बास नक़वी ने कहा कि यू पी हुकूमत के महिकमा दाख़िला की जानिब से जारी करदा मकतूब जो अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर की तामीर के लिए ग़ौर-ओ-ख़ौज़ कर ने इजलास की तलबी से मुताल्लिक़ है, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के सेकुलर सिंडीकेट की साज़िश है।

इस तरह की साज़िश से कुछ मदद नहीं मिलेगी बल्कि आइन्दा लोक सभा इंतेख़ाबात रिश्वत सतानी, क़ीमतों में इज़ाफ़ा और नज़म-ओ-नसक़ की नाकामी के मसाइल पर लड़े जाएंगे। अब सेकुलर सिंडीकेट अवाम को गुमराह करने में हरगिज़ कामयाब नहीं होगा। ये मकतूबमोतमिद दाख़िला सुरेश चन्द्र मिश्रा ने जारी किया है जिस में डायरेक्टर जनरल पुलिस और दीगर सीनियर ओहदेदारों को हिदायत दी गई है कि वो 14 अक्तूबर को इजलास में शिरकत करें ताकि अयोध्या में राम मंदिर की दुबारा तामीर के मसले पर तबादला-ए-ख़्याल किया जा सके।

ये मकतूब राम जन्मभूमि के मुक़ाम पर मंदिर की तामीर के लिए मर्कज़ की तरफ‌ से पारलीमानी क़ानून से मुताल्लिक़ है जिस में सोमनाथ मंदिर के दुबारा तामीर के ख़ुतूत पर राम मंदिर की दुबारा तामीर पर ज़ोर दिया गया है।ताहम हुकूमत ने फ़ौरी तौर पर वज़ाहत की है कि इस इजलास को इस हवाले से तलब किया गया है कि 19 अक्तूबर को वे एच पी की जानिब से संकल्प देवसि मुनाक़िद किया जा रहा है मगर मकतूब में एक लफ़्ज़ ग़लत टाइप हुआ है।

TOPPOPULARRECENT