राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महात्मा गांधी से की दीनदयाल उपाध्याय की तुलना, कांग्रेस ने किया विरोध

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महात्मा गांधी से की दीनदयाल उपाध्याय की तुलना, कांग्रेस ने किया विरोध

नई दिल्ली। नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण के बाद पढ़े गए भाषण को लेकर राज्यसभा में जबरदस्त हंगामा हुआ। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राष्ट्रपति द्वारा दीनदयाल उपाध्याय की तुलना महात्मा गांधी से करने का विरोध किया। उन्होंने भाषण में पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरु, इंदिरा गांधी का नाम न लेने का भी मुद्दा उठाया।

जिसके जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेतली उन पर भड़क गए और दोनों के बीच काफी देर तक नोक-झोंक हुई। जेतली ने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि कोई मेंबर राष्ट्रपति के भाषण पर सवाल खड़ा कर सकता है। उन्होंने आनंद शर्मा के बयान को कार्रवाई से हटाने की मांग की।

जेतली ने विपक्षी नेताओं के शोरगुल पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा था कि सदस्य व्यवस्था के प्रश्न और नियम 267 के नाम पर शून्यकाल का इस्तेमाल टीवी चैनल पर आने के लिए करते हैं।

इसके बाद विपक्ष के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित करनी पड़ी। स्थगन के बाद जैसे ही सभापति हामिद अंसारी ने प्रश्नकाल शुरू करना चाहा विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि विपक्षी सदस्य सदन में आम लोगों से जुड़े मुद्दे उठाते हैं और ये मुद्दे टीवी पर चेहरा दिखाने के लिए नहीं उठाये जाते।

उन्होंने कहा कि नेता सदन का यह बयान आपत्तिजनक है और इसे सदन की कार्यवाही से निकाला जाना चाहिए।

Top Stories