Saturday , February 24 2018

रास्त ग़ैर मुल्की सरमाया कारी से रोज़गार को फ़रोग़ होगा

हैदराबाद । 30 । नवंबर : ( यू एन आई ) : हिंदूस्तानी सनअतों की कन्फेडरेशन ( सी आई आई ) के जुनूबी ज़ोन के सरबराह टी टी अशोक ने कहा है कि ख़ूर्दा कारोबार में ग़ैर मुल्की बराह-ए-रास्त सरमाया कारी से सारेफ़ीन के लिए ना ये कि सिर्फ कई मुतबादिलपैद

हैदराबाद । 30 । नवंबर : ( यू एन आई ) : हिंदूस्तानी सनअतों की कन्फेडरेशन ( सी आई आई ) के जुनूबी ज़ोन के सरबराह टी टी अशोक ने कहा है कि ख़ूर्दा कारोबार में ग़ैर मुल्की बराह-ए-रास्त सरमाया कारी से सारेफ़ीन के लिए ना ये कि सिर्फ कई मुतबादिलपैदा होंगे बल्कि छोटी और दरमियाना दर्जा की सनअतों को कारोबार बढ़ाने के मवाक़े भी मयस्सर होंगे । मिस्टर अशोक ने यहां नामा निगारों को बताया कि हुकूमत के इस क़दम से ख़ूर्दा कारोबार को मुनज़्ज़म करने में मदद मिलेगी और इस का असर मईशत पर पड़ेगा ।

उन्हों ने मज़ीद कहा कि हुकूमत की इस पालिसी का फ़ायदा किसानों , सारिफ़ीन और बहुत छोटे , छोटे और दरमियाना दर्जा की सनअतों को भी मिलेगा । उन्हों ने कहा कि ग़ैरमुल्की बराह-ए-रास्त सरमाया कारी से किसानों को अपनी फसलों की अच्छी क़ीमतें मिलेंगी क्यों कि उन्हें दरमयानी अफ़राद को कुछ नहीं देना पड़ेगा । उन्हों ने कहा कि सी आई आई के एक सर्वे के मुताबिक़ मुनज़्ज़म ख़ूर्दा कारोबार से किसानों को 10 से 30 फ़ीसद तक ज़्यादा रक़म मिलेगी और 30 से 40 लाख रोज़गार के मवाक़े पैदा होंगे । इस के इलावा 40 से 60 लाख बिलवासता रोज़गार के वसाइल दस्तयाब होंगी

TOPPOPULARRECENT