Friday , December 15 2017

राहुल की तक़रीर मुतास्सिरकूण , दिल से निकली हुई आवाज़ ,हिन्दुस्तानी शोबा सनअत का रद्द-ए-अमल

नई दिल्ली । 5 अप्रैल (पी टी आई) हिन्दुस्तानी सनअतें कांग्रेसी लीडर राहुल गांधी के कॉरपोरेट क़ाइदीन से अव्वलीन राबिता से बेहद मुतास्सिर हुए। इन का कहना है की उन्हें पहली बार एक मुख़लिस लीडर से रब्त क़ायम करने का मौक़ा मिला और ये मुस्त

नई दिल्ली । 5 अप्रैल (पी टी आई) हिन्दुस्तानी सनअतें कांग्रेसी लीडर राहुल गांधी के कॉरपोरेट क़ाइदीन से अव्वलीन राबिता से बेहद मुतास्सिर हुए। इन का कहना है की उन्हें पहली बार एक मुख़लिस लीडर से रब्त क़ायम करने का मौक़ा मिला और ये मुस्तक़बिल के इंतेज़ामीया की शोबा सनअत के साथ बुनियाद होगी।

कॉन्फैडरेशन आफ़ इंडियन इंडस्ट्री (सी आई आई) के सदर आदि गोदरेज ने जो कान्फ़्रैंस के मेज़बान हैं, कहा कि सी आई आई के सालाना इजलास आम से ख़िताब में राहुल गांधी ने ख़वातीन को बाइख़तियार बनाने और एक अरब आबादी वाली क़ौम को एक आवाज़ अता करने का तज़किरा किया है।

शोबा सनअत के साथ तबादला-ए-ख़्याल के दौरान उन्होंने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म बनने और शादी करने के बारे में सवालात ग़ैर ज़रूरी हैं। सी आई आई के नामज़द सदर ऐस गोपाल कृष्ण ने कहा कि ये इंतिज़ामीया की बिरादरी और कारोबारी बिरादरी के दरमियान पहला रब्त है।

इससे आइन्दा के रवाबित की जिहत का ताय्युन होता है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने मुख़्तलिफ़ मसाइल पर वसीअ पैमाने पर इज़हार-ए-ख़्याल किया और वो उसे हुकूमत और सनअत के दरमियान एक अच्छा ताल्लुक़ और तआवुन तसव्वुर करते हैं। कुहनामुशक सनअतकार और कांग्रेस के नाक़िद राहुल बजाज ने कहा कि अवाम का कहना है की उन्हें कोई तजुर्बा नहीं है और उन्होंने अवाम से कभी तबादला-ए-ख़्याल नहीं किया है लेकिन में उनकी बेबाकी और नज़रियात की शफ़्फ़ाफ़ियत से बेहद मुतास्सिर होगा।

राहुल गांधी ने अरकान असेम्बली और अरकान-ए-पार्लीमेंट के फ़राइज़ के बारे में तज़किरा किया। उन्होंने बिलकुल दरुस्त कहा कि टीम केलिए दरुस्त अंदाज़ में कारकर्दगी के इज़हार के मक़सद से एक अच्छे लीडर की ज़रूरत होती है। राहुल बजाज ने कहा कि राहुल गांधी के वज़ीर-ए-आज़म बनने पर वो एक अच्छे जमहूरी क़ाइद की भरपूर ताईद करेंगे।

वो किसी डिक्टेटर को बरसर-ए-इक़तिदार आते हुए देखना पसंद नहीं करते लेकिन बाअज़ बिज़नस शोबा के क़ाइदीन ने कहा कि कांग्रेसी क़ाइद ने मुल्क , क़ौम और बिज़नस के शोबा को दरपेश मसाइल का तज़किरा तो किया है लेकिन उन मसाइल का कोई इमकानी हल पेश नहीं किया।

TOPPOPULARRECENT