Tuesday , December 12 2017

राहुल को PM बनाने के लिये रियासत की तक्सीम कर रही हैं सोनिया: जगन

सोनिया गांधी पर सीधा निशाना लगाते हुए वाईएसआर कांग्रेस के सदर जगनमोहन रेड्डी ने हफ्ते के दिन कहा कि कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी अपने बेटे राहुल गांधी को पीएम बनाने के लिए आंध्र प्रदेश की कुरबानी कर रही हैं। जगन ने बीजेपी समेत सभी प

सोनिया गांधी पर सीधा निशाना लगाते हुए वाईएसआर कांग्रेस के सदर जगनमोहन रेड्डी ने हफ्ते के दिन कहा कि कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी अपने बेटे राहुल गांधी को पीएम बनाने के लिए आंध्र प्रदेश की कुरबानी कर रही हैं। जगन ने बीजेपी समेत सभी पार्टियों का अपील की कि वे यह नाइंसाफी होने से रोकें।

तेलंगाना की तश्कील के एहतिजाज में अपना भूख हड़ताल शुरू करते हुए जगन ने कहा, ‘रियासत की तक्सीम का फैसला सोनिया गांधी ने इसलिए लिया है ताकि वह बतौर पीएम अपने बेटे की ताजपोशी कर सकें। आंध्र प्रदेश के वोटों पर उनकी नज़र है। यह एक तानाशाही फैसला है और मेरा सभी सियासी पार्टियों से गुज़ारिश है कि वे कांग्रेस सुप्रीमो के इस फैसले पर एहतिजाज करें।’ उनके तरफ से कही गई ये बातें कांग्रेस के साथ उनकी सुलह के सभी रास्ते बंद कर सकती हैं।

वाईएसआर कांग्रेस चीफ जगन ने कहा कि पार्टी यह फैसला लेने से पहले आंध्र प्रदेश की असेम्बली को यकीन में लेना भी ज़रूरी समझा।

जगन अपने सियासी हरीफ चंद्रबाबू नायडू को भी नहीं बख्शा और कहा, ‘मुझे समझ नहीं आ रहा कि नायडू अनशन पर कैसे बैठ सकते हैं? उन्हें पहले जाकर मुत्तहदा आंध्र की जनता के सामने साफ करना चाहिए कि वह रियासत की तक्सीम चाहते हैं या नहीं’

16 महीने जेल में रहने के बाद जैसे ही जगन बाहर आए, नायडू ने उनपर कांग्रेस के साथ ‘मैच-फिक्सिंग’ करने के इल्ज़ाम लगाए थे। वहीं, जगन ने इशारे दिए थे कि वह लोकसभा इंतेखाबात तक अपने सभी इख्तेयारात खुले रखकर चलेंगे। उन्होंने बीजेपी के पीएम ओहदे के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की भी तारीफ किये थें।

वाईएसआर चीफ ने कहा कि बंटवारा होने से लाखों लोगों का मुस्तकबिल दांव पर लग जाएगा। उन्होंने कहा, ‘श्रीकाकुलम से चित्तूर तक लोगों को पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा। उनके पास सिर्फ समुद्र का पानी है। सभी ज़िले पानी के लिए कृष्णा और गोदावरी नदियों पर मुंहसिर हैं। अगर नयी रियासत बनती है तो यहां के लोगों के पास न पानी बचेगा और न ही काम।’

जगन ने सवालिया निशान लगाते हुए कहा, ‘कांग्रेस बोडोलैंड, गोरखालैंड, विदर्भ और हरित प्रदेश बनाने की मांगें क्यों पूरी नहीं करती? विदर्भ और उत्तर प्रदेश की तक्सीम के लिए तो वहां की विधानसभाओं ने भी तजवीज मंजूर कर दिये हैं । कांग्रेस के निशाने पर आंध्र प्रदेश ही क्यों है? क्या सिर्फ वोटों की खातिर?’

TOPPOPULARRECENT