Wednesday , December 13 2017

राहुल गाँधी को देना होगा जवाब

मुजफ्फरनगर दंगों के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराने और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के मुस्लिम नौजवानों में राबिता बनाने के वाले मुतनाज़ा बयान पर इलेक्शन कमीशन के नोटिस का जवाब देना कांग्रेस के नायबसदर राहुल गांधी के लिए मुश

मुजफ्फरनगर दंगों के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराने और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के मुस्लिम नौजवानों में राबिता बनाने के वाले मुतनाज़ा बयान पर इलेक्शन कमीशन के नोटिस का जवाब देना कांग्रेस के नायबसदर राहुल गांधी के लिए मुश्किल हो रहा है |

सियासी रूप से पहले ही इस मसले पर पार्टी की फजीहत करा चुके राहुल ने अब अपने तकरीरों पर सफाई के लिए इलेक्शन कमीशन से एक हफ्ते का वक्त और मांगा है | हालांकि, इलेक्शन कमीशन ने उन्हें चार दिन का वक्त दिया है |

अब 8 नवंबर तक उन्हें अपना जवाब दाखिल करना होगा | राहुल गांधी ने राजस्थान के चुरु में 23 अक्तूबर को इल्ज़ाम लगाया था कि बीजेपी मुजफ्फरनगर में फिर्कावाराना दंगे भड़काने में जुटी है | इसके बाद 24 अक्तूबर को मध्यप्रदेश के इंदौर में उन्होंने दावा किया कि मुजफ्फरनगर दंगे के मुतास्सिर नौजवानो से आइएसआइ ने राबिता कायम किया है |

सियासी तौर पर कांग्रेस की इन बयानों पर खासी फजीहत हुई थी | मुस्लिम तब्के और सभी सियासी पार्टियों की तरफ से कांग्रेस पर तीखे वार हुए थे | बीजेपी ने राहुल के बयानों को इलेक्शन की जाब्ता इख्लाकी की खिलाफवर्जी करार देते हुए इलेक्शन कमीशन से शिकायत भी की थी |

कमीशन ने तकरीरों को पहली नजर में जाब्ता इख्लाकी की खिलाफवर्जी माना और नोटिस जारी करते हुए 4 नवंबर को 11:30 बजे तक जवाब देने को कहा था |

कमीशन के ज़राये के मुताबिक मुकर्रर वक्त के अंदर राहुल का जवाब नहीं पहुंच सका और उन्होंने एक हफ्ते का वक्त मांगा है | चीफ इलेक्शन कमीशन वीएस संपत को भेजे खत में राहुल ने कहा कि वह जवाब देने के लिए कुछ और वक्त चाहते हैं |

राहुल ने त्योहारों की वजह से छुट्टियों और पहले से तय किये दौरे का हवाला देते हुए कमीशन से गुजारिश की है कि उन्हें इस मुद्दे पर अपने वकीलों से सलाह करने का बहुत कम वक्त मिल सका है |

राहुल के मुताबिक, कमीशन का नोटिस 31 अक्तूबर को रात 9:30 बजे मिला था | कमीशन ने सलाह मशवरा कर राहुल को 8 नवंबर तक की मोहलत दे दी | वहीं, बीजेपी के सिनीयर कानूनी सेल के सदर सतपाल जैन ने कहा है कि राहुल को मुनासिब वक्त मिला है, लिहाजा उनको अब आगे वक्त नहीं मिलना चाहिए |

TOPPOPULARRECENT