Tuesday , December 12 2017

राहुल गांधी अवाम को गुमराह कर रहे हैं : मायावती

लखनऊ, १५ दिसंबर (यू एन आई) बहुजन समाज पार्टी ने कांग्रेस की जानिब से बी एस पी हुकूमत पर आइद इल्ज़ामात पर शदीद रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कहा कि गले तक बदउनवानी में डूबी मर्कज़ी हुकूमत के काले कारनामों से अवाम की तवज्जा मुंतक़िल करने के

लखनऊ, १५ दिसंबर (यू एन आई) बहुजन समाज पार्टी ने कांग्रेस की जानिब से बी एस पी हुकूमत पर आइद इल्ज़ामात पर शदीद रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कहा कि गले तक बदउनवानी में डूबी मर्कज़ी हुकूमत के काले कारनामों से अवाम की तवज्जा मुंतक़िल करने के लिए कांग्रेसी बेहूदा बयानबाज़ी कर रहे हैं।

बी एस पी के तर्जुमान ने यहां जारी एक ब्यान में कहा कि रियासत में असैंबली के इंतिख़ाबात के पेशे नज़र बी एस पी हुकूमत के ख़िलाफ़ कोई ठोस मौज़ू ना मिलने से बौखलाए कांग्रेसी ऐसी बेहूदा इल्ज़ामात का सहारा ले रहे हैं।उन्हों ने कहा कि कांग्रेस का हाथ ग़रीबी के साथ का नारा बुलंद करनेवाली कांग्रेस पार्टी की ग़लत इक़तिसादी पालिसीयों की वजह से मुल्क में चारों तरफ़ ग़रीबी और बेरोज़गारी है।

अवामी मुफ़ाद मुख़ालिफ़ पालिसीयों की वजह से उत्तरप्रदेश के अफ़राद को रोज़ी रोटी की तलाश में दूसरी रियास्तों में जाना पड़ा।तर्जुमान ने कहा कि ग़रीबों के घर जाकर उन की ग़रीबी का मज़ाक़ उड़ाने वाले कांग्रेस के लीडरों को ये भी तस्लीम करना चाहीए कि मर्कज़ में तक़रीबन 50 साल और उत्तरप्रदेश में तक़रीबन 40 साल तक हुकूमत करने के बाद उन की हालत ऐसी क्यों है।

इस के लिए इन ग़रीबों से माफ़ी माँगना चाहीये। क्योंकि उन की बदहाली के लिए कांग्रेस पार्टी ही सब से ज़्यादा ज़िम्मेदार है। उन्हों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के लीडरों को यू पी ए हुकूमत से ये दरयाफ़त करना चाहीए कि ये वो उत्तरप्रदेश की हुकूमत के हिस्से की रक़म क्यों रोके हुए है।

बदउनवानी को कांग्रेस पार्टी की पैदावार क़रार देते हुए बी एस पी तर्जुमान ने कहा कि इस की पूरी तारीख़ घपलों से भरी हुई है, जिस की वजह से कांग्रेस पार्टी की क़ियादत वाली हुकूमत के वुज़रा और अराकीन पार्लीमैंट तिहाड़ जेल की रौनक बढ़ रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी के लीडरों को बी एस पी हुकूमत पर बदउनवानी का इल्ज़ाम आइद करने से क़बल अपने लीडरों के काले कारनामों का ज़िक्र भी करना चाहिये। तर्जुमान ने बी एस पी पर कुम्बा पर्वरी का इल्ज़ाम आइद किए जाने पर जवाबी हमला करते हुए कहा कि सारा मुल़्क जानता है कि के कांग्रेस एक ख़ानदान की पार्टी है। इस के बरख़िलाफ़ बी एस पी सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय की पालिसी पर गामज़न होते हुए क़ानून के ज़रीया क़ानून का राज क़ायम करने में यक़ीन रखती है।

बी एस पी सभी तबकों में भाई चारा और फ़िरक़े वाराना ख़ैर सगाली को बढ़ाते हुए ग़रीबों, महरूमों और नज़रअंदाज तबकों को तरक़्क़ी के दायरे में लाने का काम अंजाम दे रही है। उन्हों ने कहा कि कांग्रेस के लीडरों को अपनी पार्टी की डूबती कशती पार लगाने के लिए ग़ैर महज़्ज़बाना और शर अंगेज़ बयानबाज़ी करने का सहारा लेना पड़ रहा है। तर्जुमान ने कहा कि बदउनवानी के सिलसिले में उत्तरप्रदेश की वज़ीर-ए-आला जी बेहद संजीदा हैं और गुज़श्ता साढे़ चार साल में बदउनवानी की जहां भी शिकायत मिली है।

उन्हों ने इस में मुलव्वस लोगों के ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त कार्रवाई की है। कांग्रेसी लीडरों के इल्ज़ाम को झूट का पलंदा क़रार देते हुए तर्जुमान ने कहा कि बी एस पी के क़ौल और फे़अल में कोई फ़र्क़ नहीं है। इंतिख़ाबात को नज़दीक देख कर कांग्रेसी लीडर अपनी अवामी बुनियाद बचाने के लिए ड्रामे बाज़ी का सहारा ले रहे हैं। लेकिन असैंबली के आम इंतिख़ाबात में कांग्रेस पार्टी को अपनी सही हालत का अंदाज़ा हो जाएगा।

TOPPOPULARRECENT