Friday , June 22 2018

राहुल गांधी को बचाने के लिए सोनिया ले सकती हैं हार की जिम्‍मेदारी

एग्जिट पोल के नतीजों के बाद कांग्रेस में खलबली मची हुई है | नतीजे आने के बाद कांग्रेस सदर सोनिया गांधी ने पार्टी के ओहदेदारान के साथ इजलास की हैं | ज़राये का कहना है कि राहुल गांधी को बचाने के लिए सोनिया हार की जिम्मेदारी ले सकती हैं |

एग्जिट पोल के नतीजों के बाद कांग्रेस में खलबली मची हुई है | नतीजे आने के बाद कांग्रेस सदर सोनिया गांधी ने पार्टी के ओहदेदारान के साथ इजलास की हैं | ज़राये का कहना है कि राहुल गांधी को बचाने के लिए सोनिया हार की जिम्मेदारी ले सकती हैं |

टीवी चैनलों पर एग्जिट पोल के नतीजों से कांग्रेस खेमे में खलबली मची है पीर के रोज देर शाम 10 जनपथ पर सोनिया ने बैठक बुलाई. बैठक में 16 मई के नतीजों को लेकर माथापच्ची हुई.

ज़राये के मुताबिक राहुल पर उंगली उठने से पहले बतौर पार्टी सदर सोनिया गांधी हार की जिम्मेदारी ले सकती हैं कांग्रेस के सभी लीडर हार की इज्तिमायी जिम्मेदारी लेने को तैयार हैं |

ज़राये का कहना है कि कांग्रेस जोड़तोड़ से हुकूमत नहीं बनाएगी | कांग्रेस के अंदर यह राय बनी है कि जोड़तोड़ से सरकार बनाने बजाय अपोजिशन में बैठना पार्टी के लिए सही होगा |

एग्जिट पोल नतीजे गलत: कांग्रेस

हालां‍कि, कांग्रेस ने एग्जिट पोल के नतीजों को खारिज कर दिया है कांग्रेस के लीडर शकील अहमद ने कहा कि हर बार एग्जिट पोल गलत होते हैं, हमें इस पर भरोसा नहीं | उन्‍होंने कहा कि ‘पिछली मर्तबा भी एग्जिट पोल में बीजेपी को ज़्यादा , जबकि कांग्रेस को कम सीटें दिखाई थीं लेकिन सारे अंदाज़ गलत साबित हुए |

मरकज़ी वज़ीर वी नारायण सामी ने कहा कि ‘2004 में भी बीजेपी की हुकूमत बनने की बात हो रही थी लेकिन कांग्रेस इक्तेदार में आई थी |

वहीं, एग्जिट पोल के नतीजों से गदगद बीजेपी लीडर उमा भारती ने कहा, ‘हमें पहले से यकीन था कि एनडीए इक्तेदार में आएगी.’

TOPPOPULARRECENT